यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

किसान की हत्या कर शव को सड़क किनारे फेंका


🗒 गुरुवार, सितंबर 09 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
किसान की हत्या कर शव को सड़क किनारे फेंका

आजमगढ़। महराजगंज में किसान की हत्या कर शव को सड़क किनारे फेंक दिया गया। सुबह घटना की जानकारी मिली तो परिवार के लोग परेशान हो उठे। स्वजन वारदात को गांव के ही कुछ लोगों से रंजिश का दुष्परिणाम मान रहे हैं। हालांकि, इस मामले में लिखित तहरीर पुलिस को दोपहर तक नहीं दी गई थी। वहीं महराजगंज पुलिस शव को कब्जे में लेकर वारदात की वजह जानने में जुट गई है।महराजगंज थाना क्षेत्र के अशरफपुर बसारत पट्टी (बनगांवा) गांव के रणविजय सिंह (50) खेती बाड़ी करके अपने परिवार की जीविका चलाते थे। वह बुधवार की रात नौ बजे परिवार के लोगाें संग भोजन किए। उसके बाद घर से कुछ देर में लौटने की बात कहकर निकल गए। इधर, परिवार के लोगाें को इंतजार करते आधी रात बीत गए । उनका फोन भी नहीं लग रहा था तो ढूंढ़ने निकल पड़े। घंटों प्रयास के बावजूद उनका सुराग नहीं लगा तो अनहोनी की आशंका लिए निराश मन से घर लौट आए। स्वजन तड़के उन्हें तलाशने निकलने ही वाले थे कि आशंका सच साबित हुई। ग्रामीणों ने सूचना दी कि सड़क किनारे रणविजय का शव पड़ा है।आनन -फानन में परिवार के लोग भागकर पहुंचे तो उनका शव देख रोने-चिल्लाने लगे। उनका चेहरा रगड़ खाने के कारण विभत्स प्रतीत हो रहा था। शरीर में सीने से गले तक चोट के निशान दिखाई पड़ रहे थे। उसी दौरान किसी की सूचना पर महराजगंज पुलिस भी मौके पर धमक पड़ी। उनका शव घर से करीब 500 मीटर दूर पड़ा था। गांव के लोग भी घटना को लेकर खामोश थे। सवाल करने पर ऐसा प्रतीत हो रहा था कि कुछ बताना तो चाह रहे, लेकिन किन्हीं वजह से चुप हो जाना ही बेहतर समझ रहे थे। पीड़ित पुत्र गोलू व पत्नी राधिका सिंह का रो-रोकर बुरा हाल हुआ था। इस संबंध में थाना प्रभारी गजानंद चौबे से जानकारी करने का प्रयास किया गया किंतु उन्होने फोन रिसीव नहीं किया।