यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सर्राफ से 13 लाख के आभूषण लूटे


🗒 गुरुवार, मई 12 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
सर्राफ से 13 लाख के आभूषण लूटे

बागपत, । मेरठ-बागपत-बहालगढ़ नेशनल हाईवे पर यूपी-हरियाणा बार्डर की निवाड़ा चौकी से महज 200 मीटर की दूरी पर दिनदहाड़े बाइक सवार बेखौफ दो बदमाशों ने हरियाणा के सर्राफ से तमंचे के बल पर करीब 13 लाख रुपये के चांदी के आभूषण लूट लिए। इसकी पुलिस को भनक भी नहीं लगी। पीड़ित सर्राफ के पुलिस चौकी पर पहुंचकर घटना की जानकारी दी, तो महकमे में हड़कंप मच गया। घटना से व्यापारी खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।हरियाणा के जनपद सोनीपत के मोहल्ला जटवाड़ा निवासी सर्राफ राजेंद्र सिंह पुत्र हरिराम सिंह, आभूषण सप्लाई करते हैं। वह गुरुवार सुबह 8.45 बजे बागपत के सर्राफ के करीब 20 किलोग्राम चांदी के आभूषण (पाजेब) लेकर घर से बाइक पर चले थे। करीब 9.15 बजे यूपी हरियाण बार्डर पर बागपत की निवाड़ा पुलिस चौकी से करीब 200-300 मीटर आगे सर्राफ पहुंचे, तो पीछे से सोनीपत की ओर से बाइक पर आए दो बदमाश तमंचे के बल पर उनसे आभूषण से भरा थैला लूटकर फरार हो गए। बदमाश हेलमेट लगाए हुए थे। चौकी पुलिस को घटना की भनक तक नहीं लगी। चौकी पर पहुंचे पीड़ित ने सर्राफ ने घटना की जानकारी दी, तो एएसपी मनीष कुमार मिश्र व कोतवाली प्रभारी ओमप्रकाश सिंह ने घटनास्थल का निरीक्षण तथा पीड़ित सर्राफ से जानकारी की। जनपद में चेकिंग अभियान चलाया गया। पीड़ित सर्राफ की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया। एएसपी मनीष कुमार मिश्र का कहना है कि पुलिस की चार टीमें बागपत कोतवाली की दो टीमों के अलावा क्राइम ब्रांच की सर्विलांस और स्वाट टीम बदमाशों की तलाश कर रही है। केस का जल्द ही राजफाश किया जाएगा।पुलिस की टीमें निवाड़ा चौकी के अलावा दुकानों व अन्य प्रतिष्ठानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चेक कर रही है। साथ ही पूर्व में पकड़े गए बदमाशों की भी कुंडली खंगाली जा रही है।घटना के बाद बागपत और सोनीपत के ज्वैलर्स निवाड़ा चौकी पहुंचे। उनकी मांग है कि पुलिस बदमाशों को गिरफ्तार कर केस का जल्द राजफाश करें। इनमें श्याम सिंह, नीरज वर्मा, राजकुमार, राजेश, बादल वर्मा, गोपाल वर्मा आदि मौजूद रहे।कोतवाली प्रभारी ओमप्रकाश सिंह का कहना है कि विभिन्न सीसीटीवी कैमरों की फुटेज से स्पष्ट है कि सर्राफ राजेंद्र सिंह के मकान के आसपास से ही बदमाश पीछे लगे थे।