बागपत में दो दोस्तों ने मिलकर लिखी थी लोहा व्यापारी के अपहरण की पटकथा , आठ गिरफ्तार

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बागपत में दो दोस्तों ने मिलकर लिखी थी लोहा व्यापारी के अपहरण की पटकथा , आठ गिरफ्तार


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 27 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
बागपत में दो दोस्तों ने मिलकर लिखी थी लोहा व्यापारी के अपहरण की पटकथा , आठ गिरफ्तार

बागपत, बड़ौत के लोहा व्यापारी आदिश कुमार जैन के अपहरण करने व एक करोड़ रुपये की फिरौती मांगने की पटकथा दो दोस्तों ने मिलकर लिखी थी। पुलिस ने आठ आरोपितों को गिरफ्तार कर लोहा व्यापारी के अपहरण की घटना का राजफाश कर दिया है। सोमवार की सुबह पांच बजे घर से दुकान के लिए निकले मोहल्‍ला गढ़ी खत्री निवासी लोहा व्यापारी आदिश जैन का तीन कार सवार बदमाशों ने अपहरण कर लिया था। बाद में छह बजे आदिश जैन के मोबाइल से उनके पुत्र अर्पित जैन को कॉल करके एक करोड़ रुपये की फिरौती मांगी थी। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। इससे महकमे में हड़कंप मच गया था।एसपी अभिषेक सिंह मय फोर्स के लोहा व्यापारी के मकान पर पहुंचे और घटना की जानकारी हासिल की। लखनऊ तक घटना की सूचना पहुंचने पर एडीजी राजीवसभरवाल, आईजी प्रवीण कुमार भी जिले में पहुंचे और आरोपित बदमाशों की धरपकड़ व लोहा व्यापारी का सकुशल बरामदगी के प्रयास शुरू कर दिए। दोपहर दो बजे पुलिस की घेराबंदी बढ़ने पर बदमाश लोहा व्यापारी को रटौल गांव के पास पूर्वी यमुना नहर पर छोड़कर फरार हो गए। पुलिस ने लोहा व्यापारी को सकुशल बरामद कर लिया। साथ ही अर्पित जैन की तहरीर पर तीन अज्ञात बदमाशों के खिलाफ रंगदारी मांगने व अपहरण करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया।मंगलवार को एसपी अभिषेक सिंह ने घटना का राजफाश किया। एसपी ने बताया कि बड़ौत नगर में परचून की दुकान करने वाले गौरव जैन का आदिश जैन के घर पर आना जाना था। गौरव ने अपने दोस्त नगर में कपड़े की दुकान करने वाले अभिषेक जैन के साथ मिलकर आदिश जैन के अपहरण करने की योजना बनाई। अभिषेक जैन ने अपनी दुकान पर काम करने वाले अमित से अपहरण करने में मदद मांगी। इस पर अमित ने अपने भाई सुमित से दोनों को मिलवाया। इसके बाद अमित व सुमित को आदिश जैन का अपहरण करने का 25 लाख रुपये में ठेका दे दिया गया। अमित ने मोहसीन, अनुज व अश्विनी उर्फ प्रिंस को भी अपनी योजना में शामिल कर लिया। योजना के अनुसार सोमवार की सुबह मोहसीन, अनुज व प्रिंस ने वैगनआर कार से आदिश जैन का अपहरण कर लिया। अमित व सुमित को आदिश जैन का मोबाइल दे दिया। इसके आद अमित ने उक्त मोबाइल अभिषेक जैन को दे दिया। अभिषेक जैन ने ही आदिश जैन के मोबाइल से अर्पित जैन से एक करोड़ रुपये की फिरौती मांगी थी। अभिषेक व गौरव ने आदिश जैन का अपहरण करने के लिए अमित व सुमित को पांच लाख रुपये एडवांस दिए थे। गौरव ने तीन लाख रुपये व अभिषेक ने दो लाख रुपये दिए थे। साथ ही अपहरण के लिए कार बिजरौल निवासी रॉकी से ली थी। रॉकी ने घटना के लिए अपनी कार दी थी।एसपी ने बताया कि बड़ौत के इमलीवाली गली गांधी रोड निवासी गौरव जैन, कुंदनपुरी रेवले रोड निवासी अभिषेक जैन, ग्राम जौहड़ी निवासी अमित, सुमित, ग्राम जिवाना निवासी मोहसिन व अनुज तथा बड़ौत नगर के कोताना रोड निवासी अश्वनी तथा बिजरौल निवासी रॉकी को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपित से वैगनआर कार, बुलेट बाइक, आदिश जैन का मोबाइल, पांच लाख रुपये बरामद कर लिए है।आरोपितों ने 24 जुलाई को आदिश जैन के पुत्र अर्पित जैन का दुकान से अपहरण का प्रयास किया था। अर्पित के विरोध करने के चलते आरोपित कामयाब नहीं हुए थे।

बागपत से अन्य समाचार व लेख

» सूदखोर के तकादे से तंग आकर खुद पर पेट्रोल छिड़ककर लगाई आग

» अवैध संबंधों में दुकानदार की गोली मारकर हत्‍या

» फर्जी नानी गर्भवती किशोरी को लेने पहुंच गई सीडब्ल्यूसी

» बागपत में फार्मेसिस्ट की गोलियों से भूनकर हत्या

» बेटे की हत्या करने पर सेवानिवृत्त सीओ को जेल भेजा