यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कुख्यात सुनील राठी की रिमांड स्वीकृत , मां व भाई अभी फरार


🗒 बुधवार, मार्च 30 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
कुख्यात सुनील राठी की रिमांड स्वीकृत , मां व भाई अभी फरार

बागपत, । हिस्ट्रीशीटर परमवीर तुगाना की हत्या के मामले में दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद कुख्यात सुनील राठी की वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से अदालत में पेशी हुई। अदालत ने उसका रिमांड स्वीकृत किया है।कुरड़ी गांव में 22 जून 2020 को छपरौली थाने के हिस्ट्रीशीटर परमवीर निवासी तुगाना गांव समेत पांच लोगों पर बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की थी। जिसमें परमवीर की 29 जून 2020 को गुरुग्राम (हरियाणा) के मेदांता हास्पिटल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। परमवीर के भाई सुरेंद्र ने छपरौली थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने आरोपित सचिन उर्फ मोनू को गिरफ्तार का केस का राजफाश किया था। 2021 के जिला पंचायत चुनाव में परमवीर को रास्ते से हटाने के लिए कुख्यात सुनील राठी के इशारे पर हत्या की गई थी। सुनील राठी के बी-वारंट के लिए पुलिस ने अदालत में अर्जी दाखिल की थी। अदालत से अनुमति मिलने पर पुलिस ने दिल्ली तिहाड़ जेल में तलबी दाखिल की थी, लेकिन दिल्ली पुलिस सुनील राठी को बागपत की अदालत में पेशी पर लेकर नहीं आई थी। छपरौली थाना प्रभारी ओमप्रकाश आर्य ने बताया कि बुधवार को इस केस में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सुनील राठी की अदालत में पेशी हुई अदालत ने सुनील राठी का रिमांड स्वीकृत कर लिया है। पुलिस अब सुनील राठी को न्यायिक अभिरक्षा में लेकर आएगी। इस मामले में कुख्यात सुनील राठी की मां पूर्व चेयरमैन राजबाला चौधरी और भाई अरविंद राठी अभी फरार चल रहे हैं। छह मार्च को पुलिस ने उनके मकान को कुर्क किया था।पुलिस के मुताबिक कस्बा टीकरी निवासी सुनील राठी, दोघट थाने का हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ 40 से अधिक मुकदमें दर्ज हैं। सुनील राठी पर बागपत जेल में पूर्वांचल के माफिया डान मुन्ना बजरंगी की हत्या करने का आरोप है। सुनील राठी हत्या के एक केस में सजायाफ्ता है।