यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पूर्व मंत्री के फर्जी पैड पर सीएम और जल प्रबंधक को भेजा पत्र, मुकदमा दर्ज


🗒 मंगलवार, अगस्त 31 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पूर्व मंत्री के फर्जी पैड पर सीएम और जल प्रबंधक को भेजा पत्र, मुकदमा दर्ज

बहराइच, । फर्जी अभिलेख तैयार कर मुख्यमंत्री को भी गुमराह करने में सहायक अभियंता पीछे नहीं हैं। आजमगढ़ व बलिया जिले में तैनात सहायक अभियंताओं की इस तरह की कारस्तानी उजागर होने से जिम्मेदार सकते में हैं। पूर्व मंत्री के फर्जी लेटर पैड का इस्तेमाल कर मुख्यमंत्री से मनचाहे स्थान पर तबादला कराने की रणनीति बनाने वालों पर यहां मुकदमा दर्ज हुआ है। पूर्व मंत्री के निजी सचिव की तहरीर पर तीन सहायक अभियंताओं के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।उत्तर प्रदेश सरकार में बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री रह चुकीं अनुपमा जायसवाल बहराइच जिले के सदर विधानसभा सीट से भाजपा विधायक हैं। पूर्व मंत्री की निजी सचिव स्मिता मौर्य ने बताया कि हाल में ही पूर्व मंत्री के संज्ञान में आया कि बलिया जिला में जल निगम में तैनात सहायक अभियंता सिविल अभिषेक वर्मा व मनोज कुमार सिंह कुशवाहा ने अपना तबादला लखनऊ व देवरिया कराने व आजमगढ़ में तैनात सहायक अभियंता सिविल अनुभव कुमार गुप्त ने अपना स्थानांतरण आजमगढ़ से बलिया किए जाने के लिए मंत्री कार्यकाल के लेटर पैड का इस्तेमाल किया है।लेटर पैड पर प्रबंध निदेशक उत्तर प्रदेश जल निगम को एक पत्र लिखा व उसकी एक प्रति मुख्यमंत्री व अन्य अधिकारियों को भेजा, जबकि इस समय अनुपमा जायसवाल प्रदेश सरकार में मंत्री नहीं है। तीनों अधिकारियों ने अपने निजी स्वार्थ के लिए पूर्व मंत्री के पैड का गलत इस्तेमाल इस्तेमाल किया। मामले को गंभीरता से लेकर पूर्व मंत्री की निजी सचिव स्मिता मौर्य ने देहात कोतवाली में तहरीर दी। पुलिस ने तीनों अधिकारियों के खिलाफ धोखधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है। पूर्व मंत्री अनुपमा जायसवाल ने बताया कि भविष्य में इस तरह का फर्जी पत्र का प्रयोग कोई न कर सके, इसके लिए एसओजी टीम के माध्यम से विवेचना कराकर कठोर कार्रवाई के लिए पुलिस अधिकारियों से कहा गया है।