यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बलिया जिले में पुलिस और ग्रामीणों में 3 घंटे तक चला घमासान, पथराव में 24 पुलिसकर्मी घायल


🗒 बुधवार, मई 29 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में ग्रामीणों और पुलिस के बीच जमकर 3 घंटे तक घमासान चला। इस दौरान कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। इसमें कई लोगों को हिरासत में लिया गया है। बलिया जिले के बांसडीह रोड थाना क्षेत्र के घघरौली गांव में बुधवार को ग्राम समाज की भूमि के विवाद को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गई। सूचना के बाद बड़ी संख्या में कई थानों की पुलिस पहुंच गई। मारपीट के आरोपी दो-तीन युवकों को पकड़कर पुलिस ले जाने लगी तो ग्रामीण आक्रोशित हो गए और पुलिस पर पथराव कर दिया।बेकाबू भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने पहले लाठियां भांजी लेकिन लोग पीछे नहीं हुए तो दो राउंड हवाई फायरिंग की गई, जिसके बाद मामला शांत हुआ। इस दौरान पुलिस और ग्रामीणों के बीच तीन घंटे तक घमासान चला।इसमें तहसीलदार समेत 24 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए। बड़ी संख्या में ग्रामीणों को भी चोट आई है। इस मामले में 12 से अधिक लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। वहीं गांव में तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल और पीएसी तैनात कर दी गई है। उधर, पुलिस के भय से लोग गांव छोड़कर भाग गए हैं।घघरौली गांव में शिव मंदिर है। मंदिर के आसपास ग्राम समाज की जमीन है। ग्राम समाज की जमीन में मत्स्य विभाग की भी कुछ जमीन है। मंदिर के पास गांव के बिंद समाज के लोग नींव खोदकर दीवार खड़ी करने लगे। जिसका विरोध गांव के रामजी सिंह के परिवार के लोगों द्वारा करके रोक दिया गया। इसे लेकर दोनों पक्षों में कहासुनी होने लगी और देखते ही देखते मारपीट में तब्दील हो गई। इसी बीच किसी ने पुलिस को सूचना दे दी। सूचना पर पहुंची मुकामी पुलिस ने ग्रामीणों को काफी समझाया लेकिन बात बनने के बजाय और बिगड़ गई। कुछ ही देर बाद दोनों ओर से ईंट-पत्थर चलने लगे। इसके बाद भगदड़ मच गई। इसी बीच पुलिस माहौल बिगाड़ने वाले दो-तीन लोगों को पकड़कर थाने ले जाने लगी। यह देखकर ग्रामीण आक्रोशित हो गए और पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस और ग्रामीणों के बीच घमासान शुरू हो गया जो करीब तीन घंटे तक चलता रहा। उपद्रवियों को रोकने के लिए पुलिस को दो राउंड हवाई फायरिंग करनी पड़ी। तब जाकर मामला शांत हुआ। इस दौरान सदर तहसीलदार गुलाब चंद्रा, सुखपुरा प्रभारी नागेश उपाध्याय (45), दारोगा सुनील कुमार सिंह (40), सिपाही प्रवीण कुमार (24) सहित दो दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी व दर्जनों ग्रामीण चुटहिल हो गए। गांव में तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल व पीएसी तैनात कर दी गई है। वहीं अपर पुलिस अधीक्षक विजय पाल  सिंह, एडीएम रामआश्रय, सदर एसडीएम अश्वनी श्रीवास्तव, क्षेत्राधिकारी आदि पहुंच गए और मोर्चा संभाला।

बलिया जिले में पुलिस और ग्रामीणों में 3 घंटे तक चला घमासान, पथराव में 24 पुलिसकर्मी घायल

बलिया से अन्य समाचार व लेख

» बलिया में भाजपा नेता सहित सात के खिलाफ हत्या का मुकदमा

» बलिया मे पति के बगल में सोई महिला की गोली मारकर हत्या

» बलिया मे पुलिस चौकी के सामने युवक ने किया आत्महत्या का प्रयास, पुलिस ने समय रहते सुरक्षित पकड़ा

» बलिया मे कालेज परिसर में छात्रा ने लगाई आग, गंभीर हाल में अस्‍पताल में किया गया भर्ती

» बहुचर्चित रागिनी हत्याकांड के चारों अभियुक्तों को उम्रकैद की सजा

 

नवीन समाचार व लेख

» तृणमूल सांसद की बदजुबानी, निर्मला सीतारमण को बताया 'जहरीली नागिन', BJP बोलीं-दर्ज कराएंगे FIR

» ढाई सौ बीघा जमीन का मालिक है हिस्ट्रीशीटर विकास और उसका परिवार

» मुठभेड़ में मारे गए प्रेम कुमार की पत्नी और बहू ने खोले कई राज, कहा-विकास ने तबाह कर दी मेरी गृहस्थी

» दयाशंकर अग्निहोत्री उर्फ कल्लू ने बताया चार घंटे पहले थाने से आया फोन तो हिस्ट्रीशीटर विकास ने बुला लिए 30 शूटर

» IS-227 के सक्रिय सदस्यों की कुंडली खंगाल रही पुलिस, पूर्व सांसद अतीक अहमद का है गैंग