यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बलिया के पत्रकार रतन सिंह हत्याकांड में फरार अपराधियों पर 25-25 हजार रुपये का इनाम


🗒 गुरुवार, अगस्त 27 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
बलिया के पत्रकार रतन सिंह हत्याकांड में फरार अपराधियों पर 25-25 हजार रुपये का इनाम

फेफना में पत्रकार रतन सिंह की 28 अगस्त को गोली मारकर हुई हत्या मामले में फरार चल रह आरोपितों के ऊपर पुलिस अधीक्षक ने 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। साथ ही पुलिस के सार्थक पहल से न्यायालय ने सभी फरार चल रहे आरोपितों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हो गया है। पुलिस आरोपितों की तलाश में बिहार समेत आसपास जनपदों के संभावित ठिकानों पर छापेमारी तेज कर दी है।पुरानी रंजिश में 28 अगस्त को उनके गांव में ही कुछ लोगों ने घेर कर गोली मार दी थी। इससे उनकी मौके पर मौत हो गई थी। इनके पिता की तहरीर पर पुलिस ने दस लोगों के खिलाफ मुकदमा कायम किया है। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए इनमें आधा दर्जन आरोपितों को तत्काल गिरफ्तार कर लिया था। साथ ही अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस जगह-जगह छापेमारी तेज कर दी है। वहीं सटे बिहार प्रांत के बक्सर में भी पुलिस ने संभावित ठिकानों पर छापेमारी की। पुलिस को उम्मीद है कि जल्द ही अन्य आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।प्रदेश सरकार के खेलकूद मंत्री उपेंद्र  तिवारी गुरुवार को पत्रकार रतन सिंह के परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे। अपने बीच मंत्री को पाकर परिवार का हर सदस्य रो पड़ा।इस दौरान मंत्री भी अपना आंसू रोक नहीं सके और वे फफक पड़े। खुद को किसी तरह  रोकते हुए इस हृदयविराद घटना की निंदा करते हुए अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का आश्वासन दिया।मंत्री ने  कहा कि अपराधी सरकारी कर्मचारी हो या ऊंची पहुंच वाला वह पुलिस की पकड़ से नहीं बच सकता है। सरकार अपराधियों पर नकेल कसने को लेकर गम्भीर है।घटना में शामिल छह नामजद को पुलिस ने तत्काल गिरफ्तार कर लिया अन्य लोग पुलिस के राडार पर है। परिजन चाहे तो इसकी उच्चस्तरीय जांच भी होगी लेकिन परिजन पुलिस की अभी तक कि कार्रवाईं से संतुष्ट है।सहायता की बात पर कहा कि जब तक मेरे शरीर मे जान रहेगी तब तक परिवार की पूरी जिम्मेदारी मेरी है। रतन की पत्नी प्रियंका सिंह को ढांढस देते हुए  कहा कि रतन एक पत्रकार के साथ मेरे छोटे भाई थे। इस परिवार के साथ पिछले दस वर्षों से संबंध हैं। बच्चों की पढ़ाई लिखाई की जिम्मेदारी मेरी है। कहा कि मुख्यमंत्री इस घटना को स्वयं संज्ञान में लिया है। अब तक  इस संदर्भ में मेरी दो-तीन बार बात हो चुकी है। घटना की सुबह ही इस मामले को संज्ञान लेकर उन्होंने दस लाख रुपये की सहायता की घोषणा की, जो खाते में जल्द ही आ जाएगा। इसके साथ किसान दुर्घटना का पांच लाख, 30 हजार परिवार लाभ योजना और मैं अपने वेतन से एक लाख रुपये दिया है। नौकरी के सवाल पर कहा कि सरकारी सिस्टम में जो रहेगा उसको दिलवाने के लिए पूर प्रयास करूंगा।

बलिया से अन्य समाचार व लेख

» बलिया में 75 वर्षीय बुजुर्ग महिला के साथ युवक ने किया दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

» बलिया में पत्नी के सामने पति की गोली मारकर हत्या

» बलिया के रसड़ा में पुलिस पर पथराव, एएसपी, सीओ समेत आधा दर्जन जवान घायल

» बलिया में पत्रकार रतन सिंह हत्याकांड में फरार चल रहे तीन और आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे

» बलिया में पत्रकार हत्याकांड में मुख्य आरोपी सहित तीन लोग गिरफ्तार

 

नवीन समाचार व लेख

» महोबा-सेवा प्रदाता समीक्षा एवं जागरूकता अभियान

» हमीरपुर-अटल पेंशन योजना के के प्रति लोगों को गांव-गांव किया जा रहा जागरूक

» मृत युवती के भाई और आरोपित की कॉल डिटेल से आया नया मोड़, दोनों में हुई 104 बार बातचीत

» मध्‍य प्रदेश उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने 4 और उम्‍मीदवारों की घोषणा की

» श्रावस्ती में महिलाओं ने किया कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन