यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

हत्‍यारोपित पक्ष के समर्थन में BJP MLA सुरेंद्र सिंह मुकदमा दर्ज कराने पहुंचे


🗒 शनिवार, अक्टूबर 17 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
हत्‍यारोपित पक्ष के समर्थन में BJP MLA सुरेंद्र सिंह मुकदमा दर्ज कराने पहुंचे

बलिया,दुर्जनपुर में पुलिस के सामने गोलियां बरसाकर हुई हत्या के मामले में आरोपित पक्ष की ओर से मुकदमा दर्ज कराने शनिवार को भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह अपने समर्थकों के साथ थाने पहुंचे। भाजपा विधायक के साथ मुख्य आरोपित धीरेंद्र प्रताप सिंह के परिवार की चोटिल महिलाऐं और बच्चे भी थे। इस मामले में भाजपा विधायक सुरेंद्र सिं‍ह के करीबी हत्‍यारोपित के होने की वजह से विरोधी दल भी सत्‍ता पक्ष पर हमलावार हैं। वहीं शनिवार को भाजपा विधायक के हत्‍यारोपित के परिजनों के साथ एफआइआर कराने के लिए खुलकर सामने आने की वजह से जिले में विरोधी दल भी अपनी रणनीति तैयार करने में सुबह से नजर आए। वहीं शनिवार दोपहर बाद सपा की ओर से एक टीम भी पीडित परिवार से मिलने पहुंची।वहीं हत्‍यारोरी के समर्थक माने जाने वाले भाजपा विधायक का आरोप है कि मारपीट में फरार और हत्‍यारोपी धीरेंद्र सिंह का परिवार भी घायल हुआ है। उनकी भी एफआइआर पुलिस को दर्ज करनी चाहिए। पुलिस ने केस से पहले मेडिकल की बात कही तो विधायक आरोपित के परिवार के लोगों और भीड़ के साथ सीएचसी भी पहुंच गए। वहां कोई डॉक्टर न मिलने पर जिला अस्पताल रवाना हो गए। भारी भीड़ के कारण पुलिस फोर्स के साथ एसपी भी मौके पर पहुंच गए और उनको समझाने बुझाने की कोशिश की।वहीं रात भर पुलिस ने गोलीकांड के अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए कुछ स्थानों पर छापेमारी की किन्तु सफलता नहीं मिल सकी। इस मामले में पुलिस अब तक मुख्य आरोपित धीरेंद्र प्रताप सिंह के दो भाइयों देवेन्द्र प्रताप सिंह और नरेन्द्र प्रताप सिंह को ही गिरफ्तार कर सकी है। जबकि अन्‍य आरोपितों पर पुलिस गैंगस्‍टर, रासुका के साथ ही 50 हजार का इनाम भी घोषित कर चुकी है। इसके अलावा आरोपितों की संपत्ति जब्‍त करने की कार्रवाई भी पुलिस शुरू कर चुकी है।बैरिया विधानसभा के दुर्जनपुर गोलीकांड के मुख्य आरोपित धीरेन्द्र प्रताप सिंह के घायल परिजनों का मेडिकल कराने शनिवार को जिला अस्पताल पहुंचे बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह मीडिया से बात करते हुए फफक पड़े। इस दौरान घायलों की पीड़ा बताते समय विधायक घायल लोगों पर पुलिस की प्रताड़ना बयां करते हुए रोने लगे। बवाल के दौरान गम्भीर रूप से घायल आशा सिंह ने कहा कि दर्जनों लोगों ने लाठी डंडे से बिना वजह हम महिलाओं पर बुरी तरह हमला कर घायल कर दिया। हम लोगों को बचाने के दौरान परिवार के कई सदस्य भी घायल हो गए।  पुलिस ने अभी तक घायलों का मेडिकल नहीं कराया। पुलिस हम सभी को लगातार प्रताड़ित कर रही है। हम सभी दो दिनों से दर्द की पीड़ा से कराह रहे हैं। आरोप लगाया कि पुलिस के भय से रिश्तेदार भी मदद करने नहीं आ रहे हैं।

बलिया से अन्य समाचार व लेख

» बलिया हत्याकांड में बड़ी कार्रवाई, SDM व CO के बाद अब तीन SI समेत आठ पुलिसकर्मी निलंबित

» बलिया गोलीकांड में मुख्य आरोपित के दो भाई गिरफ्तार, फरार अन्य छह पर 50 हजार का इनाम

» बलिया में हत्याकांड पर विपक्ष ने छेड़ा कानून-व्यवस्था का मुद्दा, निष्पक्ष जांच की मांग

» बलिया में दबंगों ने पुलिस के सामने ही शुरू कर दी फायरिंग, पूरे गांव में दहशत

» बलिया में दिनदहाड़े हत्या के मामले में CM योगी आदित्यनाथ सख्त, SDM व CO सहित पुलिसकर्मी निलंबित

 

नवीन समाचार व लेख

» पुलिस शूटिंग रेंज की जमीन पर भी प्लाटिंग करके बेचने वाला भूमाफिया रामदास गिरफ्तार

» कारोबारी इंद्रकांत की मौत के मामले में आरोपितों की तलाश में जुटी टीमों के कुछ प्रभारी बदले

» कानपुर देहात में युवती से दरिंदगी, दो युवकों ने किया सामूहिक दुष्कर्म

» हाथरस में भतीजे ने चाचा को मारी गोली, दो की मौत

» मेरठ में धड़ल्‍ले से चल रहा IPL पर सट्टे का धंधा, तहसील के बाबू समेत 10 लोग गिरफ्तार