यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

महिला प्रधान के सिर में संदिग्‍ध परिस्थितियों में लगी गोली


🗒 शनिवार, अक्टूबर 02 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
महिला प्रधान के सिर में संदिग्‍ध परिस्थितियों में लगी गोली

बलरामपुर, । नगर कोतवाली क्षेत्र के सिरिया गांव में शुक्रवार की रात प्रधान फूलकुंवरि को अज्ञात ने गोली मार दी। गोली सिर में लगने से महिला प्रधान की हालत नाजुक है। उन्‍हें इलाज के लिए लखनऊ रेफर किया गया है। प्रधान के पति रामसागर ने दो अज्ञात के खिलाफ प्राणघातक हमला करने का मुकदमा दर्ज कराया है। घटना को लेकर गांव में दहशत है। उधर बगल में सो रहे परिवारजन को गोली की आवाज न सुनाई देने से घटना संदिग्ध हो गई है। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। प्रधान पद का चुनाव लड़ने वाले दो लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है।सदर ब्लाक के ग्राम पंचायत सिरिया के प्रधान का पद अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित है। यहां रामसागर की पत्नी फूल कुंवरि चुनाव जीतकर प्रधान बनीं। उनका फूस का मकान है। रामसागर के मुताबिक शुक्रवार की रात 10 बजे भोजन के बाद वह स्वजन के साथ मड़हे में सो गया था। मड़हे में उसकी पत्नी फूलकुंवरि व पुत्री कल्पना अलग-अलग चारपाई पर सोई थी। रात 12 बजे फूलकुंवरि की चीख सुनकर सभी लोग जाग गए। उसका पूरा शरीर खून से भीगा था। गोली उनके सिर में आर-पार हो गई थी। थोड़ी देर बाद वह बेहोश होकर चारपाई पर गिर गई। चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग भी प्रधान के घर पहुंच गए। आनन-फानन में घायल प्रधान को संयुक्त जिला अस्पताल पहुंचाया गया। हालत गंभीर देख कर चिकित्सकों ने उसे बहराइच रेफर कर दिया। हालत में सुधार न होने पर शनिवार को महिला प्रधान को लखनऊ ट्रामा सेंटर के लिए भेजा गया है। सीओ सिटी वरुण कुमार मिश्र ने बताया कि राम सागर की तहरीर पर दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले का राजफाश करने को गहनता से छानबीन की जा रही है।स्वजन ने नहीं सुनी गोली की आवाज : घटना वाली रात मड़हे में सो रहे प्रधान के पति व बेटी ने गोली चलने की आवाज नहीं सुनी। रामसागर का कहना है कि वह गहरी नींद में था। बेटी के जगाने पर उसकी नींद टूटी। पत्नी का पूरा शरीर खून से भीगा था। वह ठीक से बात नहीं कर पा रही थी। बेटी कल्पना बताती है कि मां के बगल उसकी चारपाई थी, लेकिन उसने भी कोई आवाज नहीं सुनी। मां के चीखने पर नींद टूटी। पड़ोसी भी गोली की आवाज न सुनने की बात कह रहे हैं। मौके पर कोई कारतूस का खोखा बरामद नहीं हुआ है। गोली कनपटी से आरपार होने की बात कही जा रही है। रामसागर की गांव में किसी से रंजिश नहीं है। ऐसे में गोली किसने चलाई, इसे लेकर संशय बना हुआ है।