यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मुख्तार अंसारी की निगरानी में तैनात किए गए नोयडा जेल के डिप्टी जेलर


🗒 गुरुवार, अगस्त 04 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मुख्तार अंसारी की निगरानी में तैनात किए गए नोयडा जेल के डिप्टी जेलर

बांदा, । मंडल कारागार में बंद पूर्वांचल के माफिया मुख्तार अंसारी की विशेष निगरानी की जा रही है। जिसके चलते अब नोयडा के नए डिप्टी जेलर तैनात किए गए हैं। जबकि बरेली रेंज के आठ अलग-अलग जेलों के 12 वार्डन भी विशेष निगरानी में लगे हैं। कड़ी सुरक्षा के लिहाज से पीएसी भी पहरे पर तैनात है। जेल में चारों ओर सीसीटीवी कैमरे भी सक्रिय हैं।मुख्तार को पंजाब की रूपनगर जेल से छह अप्रैल वर्ष 2021 में यहां की मंडल कारागार लाया गया था। तभी से मंडल कारागार की सुरक्षा व्यवस्था हाईटेक कर दी गई है। सुरक्षा व्यवस्था में किसी तरह की कमी न रहे। इसके लिए अब नोयडा जेल के डिप्टी जेलर उमेश बाबू को यहां विशेष निगरानी में तैनात किया गया है। इसी तरह हर माह दूसरे रेंज के वार्डन भी बदले जाते हैं।इस समय बरेली रेंज के वार्डन पहरे पर नियुक्त किए गए हैं। जिसमें जिला कारागार बरेली, केंद्रीय कारागार, मुरादाबाद, बदांयू से एक-एक वार्डन व पीलीभीत, शाहजहांपुर, रामपुर व बिजनौर कारागार से दो-दो वार्डन शामिल हैं। मुख्तार की बैरक व उसके आसपास खासकर गैर जनपदों के वार्डन व डिप्टी जेलर की निगरानी रहती है। जिससे सतर्कता के साथ पूरी निगरानी हो सके। इसके अलावा मंडल कारागार के अन्य वार्डन व डिप्टी जेलर आदि भी विशेष निगरानी में गैर जनपदों के डिप्टी जेलर व वार्डनों का बाहर से पूरा सहयोग देते हैं। सुरक्षा के इंतजाम में आठ वाडी वार्न कैमरे, 44 सीसीटीवी कैमरे भी सक्रिय हैं। डेढ़ सेक्शन पीएसी अंदर व पीएसी के 20 जवान बाहरी सुरक्षा में तैनात हैं। कारागार के चप्पे-चप्पे पर निगरानी की जा रही है। निगरानी में किसी तरह की चूक न हो, इसके लिए मानीटरिंग की जाती है। वार्डन व डिप्टी जेलरों को उनके ड्यूटी के दायित्वों के बारे में बताया जाता है। ड्यूटी के समय किसी तरह की लापरवाही न बरतने के सभी सुरक्षाकर्मियों को कड़े निर्देश दिए गए हैं। - वीरेंद्र कुमार वर्मा -प्रभारी जेल अधीक्षक