यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

खेत की सिंचाई कर रहे किसान की ठंड लगने से मौत


🗒 रविवार, जनवरी 15 2023
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड
खेत की सिंचाई कर रहे किसान की ठंड लगने से मौत

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा
बांदा। खेत में बोई गई गेहूं की फसल की सिंचाई करने गए किसान को सर्दी ने अपनी चपेट में ले लिया। उसकी हालत बिगड़ गई। उसे रानी दुर्गावती मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया। वहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
गिरवां थाना क्षेत्र के महुआ गांव निवासी राजाराम (58) पुत्र टिर्रा शुक्रवार की रात गेहूं की फसल की सिंचाई करने गया था। शनिवार की सुबह जब वह लौटा तो उसका बदन सर्दी से कंपकंपा रहा था। घरवालों ने देखा तो आग से उसका बदन सेंका। कुछ ही देर बाद उसे उल्टी होने लगी और सीने में तेज दर्द होने लगा। परिजन उसे लेकर मेडिकल कालेज आए। वहां दोपहर में उसने दम तोड़ दिया। परिजनों की सूचना पर मौके पर पहुंची मेडिकल पुलिस चौकी के प्रभारी ने शव को कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के पुत्र ज्ञान कुमार ने बताया कि उनके पिता किसानी करते थे। जमीन नहीं है। ग्रामीणों की खेती बलकट में लेकर किसानी करते थे। इसी से परिवार का भरण पोषण होता था। खेत की सिंचाई करते समय सर्दी लग जाने से उसकी मौत हुई है।