यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बांदा -नया नहीं है पीडब्ल्यूडी में घोटाला बड़ा काम तो बड़ा सिस्टम छोटे बंदरवाट पर नजर किसी की नहीं


🗒 शुक्रवार, मार्च 06 2020
🖋 अरबिद कुमार श्रीवास्तव, ब्यूरो बाँदा

नया नहीं है बाँदा  pwd में घोटाला, बड़ा काम तो बड़ा सिस्टम, छोटे बंदरबांट पर नहीं जाती नजर

बांदा -नया नहीं है पीडब्ल्यूडी में घोटाला बड़ा काम तो बड़ा सिस्टम छोटे बंदरवाट पर नजर किसी की नहीं

जितनी अधिक पकड़ अपने उच्च अधिकारियों और शासन में रखता है, वह उतना बड़ा हाथ भी मारता रहता है

बाँदा

पीडब्ल्यूडी में घोटाला होना कोई नई बात नहीं है। जो अधिकारी जितनी अधिक पकड़ अपने उच्च अधिकारियों और शासन में रखता है, वह उतना बड़ा हाथ भी मारता रहता है। भरपूर धन अर्जित कर इसी धन की बदौलत वह दाग लगने पर भी मलाई वाले पदों और जिलों में चार्ज पाते रहते हैं। 

कुछ साल पहले इसी विभाग में तैनात जेई ने तारकोल घोटाला कर करोड़ों की हेराफेरी की थी। जिसे तमाम शिकायतों व मीडिया में खूब लिखा गया, तब हटाया जा सका था। 

इसी तरह इस बाईपास घोटाले के समय रहे राजीव श्रीवास्तव एक्सईएन यहां से हटे तो उन्हें हमीरपुर में चार्ज मिल गया। हद तो तब हो गई जब वहां तैनात एक्सईएन सुमन्त कुमार को वहां से हटाकर इन्हें तैनाती दी गई। 

अब सवाल यह उठता है कि इन अधिकारियों की तैनाती शासन स्तर से ही होती है। तो फिर शासन पर बैठे जिम्मेदार कैसे आंख बंद करके ऐसे अधिकारियों को फिर से लूट करने के लिए मौका दे देते हैं। इससे तो यही कहा जा सकता है कि ये अधिकारी ऊपर तक अपनी साठगांठ बनाये रखते हैं। वरना जब बाईपास का काम चल रहा था। 

तब अधिकारियों ने निरीक्षण नहीं किया। अब जब सब समेटकर अधिकारी निकल गए तब चार साल बाद कार्य का निरीक्षण किया गया।

इसी तरह छोटी सड़कों या अन्य छोटे कामों से ये विभागीय जिम्मेदार जेबें भरते रहते हैं। और किसी को भनक तक नहीं लगती।

बांदा से अन्य समाचार व लेख

» 7 दिन पहले साइकिल खरीद साइकिल चलाकर अपने गांव आया था संदिग्ध परिस्थितियों में लगाई फांसी

» बांदा -दो ट्रेनों में आए 3600 मजदूर रोडवेज से भेजा गया उनको उनके गंतव्य तक

» बांदा -बबेरु समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र एक फार्मासिस्ट एक नर्स के भरोसे मरीज हो रहे हैं परेशान

» आस्था कहे या अंधविश्वास नाबालिक ने पूजा पाठ के बाद मंदिर में चढ़ाई जीभ

» डीआईजी दीपक कुमार ने आतंकवाद निरोधी दिवस पर पुलिस कर्मियों को दिलाई शपथ