बांदा-लघु फिल्म के माध्यम से समूह की महिलाओं को दिया गया प्रशिक्षण

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बांदा-लघु फिल्म के माध्यम से समूह की महिलाओं को दिया गया प्रशिक्षण


🗒 शुक्रवार, अक्टूबर 30 2020
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड
बांदा-लघु फिल्म के माध्यम से समूह की महिलाओं को दिया गया प्रशिक्षण


क्रासरःनौ दिवसीय प्रशिक्षण का हुआ शुभारंभ

बांदा। उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत शहर के एक होटल में आंतरिक सामुदायिक रिसोर्स पर्सन का नौ दिवसीय प्रशिक्षण शुरू हुआ। प्रशिक्षण का शुभारंभ एनआरएलएम डिप्टी कमिश्नर कृष्ण करुणा कर पाण्डेय के मार्गदर्शन में शुरू हुआ। डिप्टी कमिश्नर ने दीदियों को समूह के महत्व और समूह गठन तथा आईसीआरपी के कार्य के बारे में बताया। समूह के गठन सबसे पहले कहा से शुरू हुआ था उसके बारे में बताया गया। ट्रेनर के रूप में एनआरपी डा. अनुपम पांडेय ने दीदियों को मिशन के उद्देश्य और सामाजिक समावेशन, वित्तीय समावेशन के बारे में जानकारी दी। दीदियों को प्रोजेक्टर के माध्यम से समूह से जुड़ी लघु फिल्म भी दिखाई गई। डीएमएम राकेश कुमार सोनकर ने समुदायिक कैडर व कैडर के महत्व और पंच सूत्र के बारे विस्तार से जानकरी दी। डीआरपी राजीव सिंह ने समूह गठन के बाद पदाधिकारियो के चयन किस तरह से करे के बारे में बताया। डीआरपी हनीफ खान ने विभिन्न खेल और गीत के जरिये दीदियों को समझाया। नरैनी क्षेत्र से 11 दिदिया, बड़ोखर खुर्द से 12, महुआ से 8, बबेरू से 15 दीदियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। शरद पूर्णिमा के अवसर पर दीदियों को बाम्बेश्वर मन्दिर का भ्रमण कराया गया। जहाँ पर दीदियों ने दर्शन किया। इस मौके पर डीएमएम धर्मेंद्र जायसवाल, डीआरपी अशोक राज, जगमोहन लाल, बीआरपी रेखारानी राजपूत आदि मौजूद रहे।

बांदा से अन्य समाचार व लेख

» बांदा में रेलवे पटरी किनारे मिला शिक्षामित्र का शव

» शादी का झांसा देकर छात्रा के साथ दुष्कर्म

» घरेलु कलह के चलते किराना व्यापारी ने गटका सल्फास, मौत

» सीएमओ के आश्वासन के बाद किसान यूनियन का धरना समाप्त

» चोरी मोबाईल व अवैध तमंचे सहित अभियुक्त गिरफ्तार