यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बांदा-खुशहाल परिवार दिवस के साथ हुआ पुरुष नसबंदी पखवाड़े का आगाज


🗒 शनिवार, नवंबर 21 2020
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड
बांदा-खुशहाल परिवार दिवस के साथ हुआ पुरुष नसबंदी पखवाड़े का आगाज


- स्वास्थ्य इकाइयों में स्टाल व गोष्ठी का हुआ आयोजन
- नवदंपति को पहल किट, छाया व कंडोम बांटे
- चार दिसंबर तक चलेगा नसबंदी पखवाड़ा

बांदा। मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने में परिवार नियोजन सेवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। प्रदेश सरकार व स्वास्थ्य विभाग इसमें जागरूता बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। शनिवार को खुशहाल परिवार दिवस का आगाज किया गया। अब यह प्रत्येक माह की 21 तारीख को मनाया जाएगा। इसी के साथ 4 दिसंबर तक चलने वाले पुरुष नसबंदी पखवाड़े की भी शुरूआत की गई।
जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह व मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एनडी शर्मा के निर्देशन पर सभी स्वास्थ्य केंद्रों में खुशहाल परिवार दिवस मनाया गया। जसपुरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आयोजित गोष्ठी में चिकित्साधीक्षक डा. अखिलेश सिंह ने कहा कि परिवार नियोजन को लेकर महिलाओं के साथ पुरुषों में जागरूकता लाना बेहद जरूरी है। दोनों के सहयोग से ही इस मुहिम को सफल बनाया जा सकता है। परिवार नियोजन साधनों की ग्राह्यता को बढ़ाना बहुत जरूरी है। इसके लिए लक्ष्य निर्धारित किया गया है। नवदंपति को पहल किट, माला एन, छाया व कंडोम का वितरण किया गया।
डा. दिनेश चंद्र ने कहा कि इसमें आशा कार्यकर्ता ग्रामीण और शहरी क्षेत्र

खुशहाल परिवार दिवस के साथ हुआ पुरुष नसबंदी पखवाड़े का आगाज
- स्वास्थ्य इकाइयों में स्टाल व गोष्ठी का हुआ आयोजन
- नवदंपति को पहल किट, छाया व कंडोम बांटे
- चार दिसंबर तक चलेगा नसबंदी पखवाड़ा
फोटो नंबर-2
बांदा। मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने में परिवार नियोजन सेवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। प्रदेश सरकार व स्वास्थ्य विभाग इसमें जागरूता बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। शनिवार को खुशहाल परिवार दिवस का आगाज किया गया। अब यह प्रत्येक माह की 21 तारीख को मनाया जाएगा। इसी के साथ 4 दिसंबर तक चलने वाले पुरुष नसबंदी पखवाड़े की भी शुरूआत की गई।
जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह व मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एनडी शर्मा के निर्देशन पर सभी स्वास्थ्य केंद्रों में खुशहाल परिवार दिवस मनाया गया। जसपुरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आयोजित गोष्ठी में चिकित्साधीक्षक डा. अखिलेश सिंह ने कहा कि परिवार नियोजन को लेकर महिलाओं के साथ पुरुषों में जागरूकता लाना बेहद जरूरी है। दोनों के सहयोग से ही इस मुहिम को सफल बनाया जा सकता है। परिवार नियोजन साधनों की ग्राह्यता को बढ़ाना बहुत जरूरी है। इसके लिए लक्ष्य निर्धारित किया गया है। नवदंपति को पहल किट, माला एन, छाया व कंडोम का वितरण किया गया।
डा. दिनेश चंद्र ने कहा कि इसमें आशा कार्यकर्ता ग्रामीण और शहरी क्षेत्र की लक्षित समूह की महिलाओं की लाइन लिस्टिंग करेंगी। गृह भ्रमण के दौरान लक्षित समूह के उन दंपति को चिन्हित करेंगी जो परिवार नियोजन के किसी साधन को नहीं अपना रहे हैं, उनकी काउंसिलिंग से लेकर बास्केट ऑफ च्वाइस में मौजूद साधनों से अवगत कराएंगी। कम्युनिटी हेल्थ आफिसर (सीएचओ) आशा की मदद करेंगे। एएनएम, आशा संगिनी और महिला आरोग्य समिति के सदस्य भी इच्छुक दंपति द्वारा चुने गए साधनों की उपलब्धता पर आशा का सहयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि परिवार नियोजन में पुरुषों की भागीदारी बढ़ाने के लिए चार दिसंबर तक पुरुष नसबंदी पखवाड़ा चलाया जा रहा है। पुरुषों को इसके लिए प्रेरित किया जाएगा। इस मौके पर बीसीपीएम ज्ञान सिंह भी मौजूद रहे।

 

की लक्षित समूह की महिलाओं की लाइन लिस्टिंग करेंगी। गृह भ्रमण के दौरान लक्षित समूह के उन दंपति को चिन्हित करेंगी जो परिवार नियोजन के किसी साधन को नहीं अपना रहे हैं, उनकी काउंसिलिंग से लेकर बास्केट ऑफ च्वाइस में मौजूद साधनों से अवगत कराएंगी। कम्युनिटी हेल्थ आफिसर (सीएचओ) आशा की मदद करेंगे। एएनएम, आशा संगिनी और महिला आरोग्य समिति के सदस्य भी इच्छुक दंपति द्वारा चुने गए साधनों की उपलब्धता पर आशा का सहयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि परिवार नियोजन में पुरुषों की भागीदारी बढ़ाने के लिए चार दिसंबर तक पुरुष नसबंदी पखवाड़ा चलाया जा रहा है। पुरुषों को इसके लिए प्रेरित किया जाएगा। इस मौके पर बीसीपीएम ज्ञान सिंह भी मौजूद रहे।