यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बाराबंकी में युवती की हत्‍या का चौकाने वाला राजफाश, सहेली ने सिर पकड़ा और प्रेमी ने रेता था गला


🗒 सोमवार, नवंबर 30 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
बाराबंकी में युवती की हत्‍या का चौकाने वाला राजफाश, सहेली ने सिर पकड़ा और प्रेमी ने रेता था गला

बाराबंकी,  लापता युवती को उसकी सहेली ने अपने घर में प्रेमी के साथ मिलकर मौत के घाट उतारा था। त्रिकोणीय प्रेम कहानी में हुए इस हत्याकांड का राजफाश करते हुए पुलिस ने मृतका के प्रेमी समेत को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही वारदात में प्रयुक्त उपकरण भी बरामद कर लिए हैं।एसपी डॉ. अरविंद चतुर्वेदी ने बताया कि मीरगांव की युवती 27 नवंबर को घर से निकली थी। 28 नवंबर को उसका शव गौराचक तालाब के पास बोरे में मिला था। युवती की गला रेतकर हत्या की गई थी। मृतका के पिता ने गांव के अतीक पर पुत्री के अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। राजफाश के लिए एएसपी आरएस गौतम के पर्यवेक्षण में पांच टीमें गठित की गई थीं। एसपी ने बताया कि युवती से आरोपित अतीक के करीब चार वर्षों से संबंध थे। डेढ़ वर्ष पहले अतीक के संबंध मृतका की सहेली वंदना से हो गए। करीब छह माह पहले अतीक और युवती के शादी करने की जानकारी होने पर वंदना ने दुष्कर्म का मुकदमा कराने की धमकी दी थी। इस पर दाेनों ने उसे रास्ते से हटाने की साजिश रच दी।लखनऊ में वेल्डिंग का काम करने वाले अतीक ने युवती को यह कहकर वंदना के घर बुलाया कि हम दोनों वहीं से भागकर शादी कर लेंगे। वंदना ने भी युवती को फोन किया था। नींबू लाने का बहाना कर निकली युवती सीधे वंदना के घर पहुंची। यहां अतीक पहले से मौजूद था। तीनों आपस में बात करने लगे तभी अतीक ने पूर्व नियोजित तरीके से मृतका को पटक दिया। वंदना ने अपनी सहेली का सिर पकड़ा और अतीक ने उसकी गर्दन पर बांके से वार कर हत्या कर दी। इसके बाद शव को दोनों ने मिलकर धान के पुआल में छिपा दिया। वंदना व अतीक ने खून लगे अपने कपड़े आंगन में मिट्टी के नीचे दबा दिए। वारदात के बाद अतीक वहां से चला गया। वंदना ने खेत से घर लौटने पर अपने पिता गौरीशंकर को पूरी बात बताई। वंदना को डा़ंटने के बाद गौरीशंकर ने शव को प्लास्टिक के बोरे में भरकर साइकिल पर बांधकर कर गौराचक तालाब के पास सड़क किनारे फेंक दिया।एसपी ने बताया कि इस राजफाश के लिए रामनगर कोतवाल रामचंद्र सरोज, एसआइ संजीव कुमार, विश्वबंधु, सिपाही सौरभ यादव, रोहित कुमार, ओम प्रकाश, मधु भारती, रुपमलता सिंह, रुचि यादव को पुलिस महानिरीक्षक अयोध्या ने 25 हजार रुपये का नकद पुरस्कार देकर पुरस्कृत करने की घोषणा की है। 

बाराबंकी से अन्य समाचार व लेख

» बाराबंकी में मूर्ति को लेकर बवाल में 46 पर मुकदमा दर्ज, छह गिरफ्तार

» बाराबंकी में नाली के विवाद में दो पक्षों के बीच खूनी संघर्ष, एक मौत-पांच घायल

» बाराबंकी में मनचले बारातियों ने छात्रा को कार में खींचा

» बाराबंकी में तीन छात्रों ने शिक्षक के सामने सहपाठी को पीटा

» पुलिस स्‍टेशन में खामियां देख भड़के SP बाराबंकी, सजा में पुलिसकर्मियों से लगावाए थाने के चक्‍कर

 

नवीन समाचार व लेख

» अलीगढ़ मे घरेलू विवाद में दंपती ने खा लिया जहर, पति की मौत, पत्नी गंभीर

» अलीगढ़एसएसपी आफिस के बाहर चले लात-घूंसे

» प्रयागराज पुलिस ने रिटायर्ड न्यायमूर्ति के खाते से रुपये उड़ाने वाले को किया गिरफ्तार

» वाराणसी में रंगदारी मांगने के लिए 203 बार मोबाइल पर फोन करने वाला आरोपी गिरफ्तार

» CFI के महासचिव रऊफ व PFI कमांडर अन्सद बदरुद्दीन के रिश्तों की छानबीन में जुटी UP STF