यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

योगी-मोदी व जय श्रीराम के नारे लगाने पर विवाद युवक को किया मरणासन्न, दो हिरासत में


🗒 मंगलवार, मार्च 01 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
योगी-मोदी व जय श्रीराम के नारे लगाने पर विवाद युवक को किया मरणासन्न, दो हिरासत में

बाराबंकी, । दरियाबाद के गुलचप्पा कला गांव में योगी-मोदी व जय श्रीराम के नारे लगाने पर विवाद हो गया। समुदाय विशेष के दो युवकों पर नारेबाजी को लेकर पिटाई कर लहूलुहान करने का आरोप लगा है। विवाद के बाद गांव में तनाव की स्थिति बन गई। उधर, गंभीर हालत में घायल युवक को निजी अस्पताल से सीएचसी में भर्ती कराया गया। उपचार के बाद मुकदमा लिखा गया है। आक्रोशित भीड़ ने सुबह ही चौकी पहुंच आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर घेराव कर लिया। पुलिस के समझाने पर आक्रोशित भीड़ शांत हुई। दो लोगों को हिरासत में लिया गया है।दरियाबाद थाने के अलियाबाद चौकी अंतर्गत गुलचप्पा कला गांव निवासी गुड्डू रावत का आरोप है कि सोमवार की वह देर शाम गन्ना काटकर घर लौटा। घर से गांव स्थित दुकान पर सामान लेने गया। जहां से वापस लौटते समय रास्ते में देर रात योगी-मोदी जयश्रीराम व स्थानीय विधायक के समर्थन में नारेबाजी कर दी। इससे गांव के दो युवक सलीम व अदीम नाराज होकर पिटाई करने लगे। बेरहमी से पीटकर मरणासन्न कर दिया। स्वजनों ने उपचार के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से एंबुलेंस से सीएचसी में भर्ती कराया गया। यहां पर बताया गया कि लहूलुहान युवक को होश आया। इसके बाद पुलिस ने एससीएसटी समेत कई धाराओं में दोनों आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया। घायल को घर भेज दिया गया।मारपीट की घटना के बाद स्वजन समेत तमाम लोग आक्रोशित हुए। घायल को ठेलिया से लेकर चौकी अलियाबाद पहुंचे। यहां पर घेराव कर गिरफ्तारी व मुकदमा लिखने की मांग करने लगे। जिस पर पुलिस ने मुकदमा रात में दर्ज होने और दो लोगों को गिरफ्तार करने की जानकारी दी गई। काफी देर से पुलिस लोगों को समझाने में जुटी है। कुछ लोग वापस भी लौटे है। घायल युवक की भाभी मंजू ने बताया कि नारा लगाने पर धारदार हथियार से मारा गया। जिससे वह बेहोश हो गया। चौकी प्रभारी अजय पांडेय ने बताया कि चुनाव को लेकर विवाद हुआ है। मुकदमा लिख लिया गया। दो लोग हिरासत में है। लोगों को समझा कर शांत कराया जा रहा है।।चौकी के घेराव जैसी कोई बात नहीं है।