यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मुकदमा वापस न लेने पर युवती को अगवा कर दिया जहर


🗒 बुधवार, नवंबर 17 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मुकदमा वापस न लेने पर युवती को अगवा कर दिया जहर

बरेली,  बरेली में दबंगों की ज्यादती का शिकार एक युवती हो गई। दबंगों ने पहले युवती के साथ छेड़छाड़ की। युवती के विरोध करने पर उसके साथ मारपीट की गई। इसको लेकर युवती ने आरोपित युवक समेत उसके परिवार के सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। मामले एक सप्ताह बाद कोर्ट में सुनवाई होनी है। इस पर आरोपितों ने युवती पर मुकदमा वापस लेने का दबाव बनाना शुरू कर दिया। युवती ने इन्कार किया तो आरोपितों ने उसे अगवा कर लिया और अपने घर में कैद कर लिया।आरोप है कि घर में आरोपितोंं ने युवती को जबरन जहर पिला दिया। फिर खुद डायल 112 को फोन कर जानकारी दे दी। अस्पताल में युवती ने दम तोड़ दिया। मौत से पहले उसने आरोपितो के दुस्साहस की पूरी कहानी बयां की है।बहेड़ी की रहने वाली युवती के स्वजन ने बताया कि वर्ष 2019 में पास के ही रहने वाले युवक अनीश ने बेटी के साथ छेड़छाड़ की थी। विरोध किया तो युवक के पिता नजीर अहमद और भाइयों शकील अहमद, अकील अहमद, खलील अहमद व दो अन्य रफी एवं अलीम ने मिलकर मारपीट की। उसके बाद मामले में सात आरोपितोंं के खिलाफ छेड़छाड़ मारपीट व अन्य धाराओं में बहेड़ी थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था। 25 नवंबर को मुकदमे में कोर्ट में सुनवाई होनी है। इस पर आरोपित युवती पर  लगातार समझौते का दबाव बना रहे थे।समझौते की बात से इन्कार करने पर मंगलवार देर रात आरोपित युवती को घर से अगवा कर ले गए। अपने घर में बंद कर लिया। जबरन जहर पिला दिया और कमरे में बंद कर दिया। कमरे में कहीं से युवती के हाथ मोबाइल फोन लग गया। उसने अपने भाई को सूचना दी। आरोपितों को यह जानकारी हाथ लग गई और युवती के स्वजन के पहुंचने से पहले खुद ही डायल 112 को युवती के जहर खाने की सूचना दे दी। सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस युवती काेे अस्पतला ले गई। बयान में उसने आरोपितों के दुस्साहस की पूरी कहानी बयां की लेकिन, उसे बचाया नहीं जा सका। अस्पताल में इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। आरोपितोंं के खिलाफ युवती के स्वजन ने हत्या का आरोप लगाया है।