यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सिपाही ने इंस्पेक्टर के सामने अपनी कनपटी पर लगाया तमंचा, बोला- खुद को मार लूंगा गोली


🗒 बुधवार, दिसंबर 01 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
सिपाही ने इंस्पेक्टर के सामने अपनी कनपटी पर लगाया तमंचा, बोला- खुद को मार लूंगा गोली

बरेली, नशे में अभद्रता का आरोपित सिपाही सस्पेंड हुआ तो बौखला गया। बुधवार सुबह सुभाषनगर थाने पहुंचकर उसने अपनी कनपटी पर तमंचा रख लिया। फिर बोला मैं मरने जा रहा हूं, खुद को मार लूंगा गोली, इसके जिम्मेदार इंस्पेक्टर होंगे। हालांकि सिपाही कुछ कर पाता इससे पहले ही थाने के अन्य पुलिसकर्मियों ने किसी तरह उससे तमंचा छीन लिया। बाद में सिपाही को इस हरकत पर उसे जेल भेज दिया गया।दरअसल, मंगलवार रात करीब साढ़े आठ बजे सिपाही ताराचंद नशे में थाने पहुंचा। नशे में सिपाही थाने के अपने साथियों से भिड़़ने लगा। महिला पुलिसकर्मियों से अभद्रता तक कर दी। यह देख इंस्पेक्टर नरेश कुमार कश्यप ने उसे पकड़वाकर उसका मेडिकल करा दिया। नशे में होने की पुष्टि होने पर रिपोर्ट एसएसपी रोहित सिंह सजवाण को भेज दी। इस पर एसएसपी ने ताराचंद को निलंबित कर दिया। कार्रवाई की जानकारी होने पर बुधवार सुबह करीब नौ बजे वह गुस्से में थाने पहुंचा। परिसर में खड़े होकर अपनी कनपटी पर तमंचा लगाया, फिर स्वजन को फोन करने लगा।बोला, मैं खुद को गोली मारने जा रहा हूं, मैं मरने जा रहा हूं, इसके जिम्मेदार इंस्पेक्टर नरेश कुमार कश्यप होंगे। यह देख कई पुलिसकर्मी उसकी ओर दौड़ पड़े। तमंचा छीनकर उसे कमरे में बैठा लिया। उसी दौरान इंस्पेक्टर ने एसएसपी को फोन कर पूरा प्रकरण बताया तो उन्होंने आर्म्स एक्ट में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दे दिए। दोपहर को उसे कोर्ट में पेश किया गया, जिसके बाद जेल भेज दिया गया।मुरादाबाद के छजलैट के मुंडाला गांव निवासी आरोपित वर्ष 2011 बैच का सिपाही है। वह तमंचा व कारतूस कहां से लाया, इसकी जांच की जा रही। एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि ताराचंद के नशे में होने की पुष्टि पर उसे निलंबित किया गया था। इसके बाद वह तमंचा लेकर थाने पहुंचा था, इसलिए आर्म्स एक्ट में कार्रवाई की गई है।थाने में चर्चा है कि विवाद महिला पुलिसकर्मी को मैसेज करने के बाद खड़ा हुआ। ताराचंद ने महिला पुलिसकर्मी को मैसेज भेजा। महिला पुलिसकर्मी ने मामले की शिकायत इंस्पेक्टर व सीओ से कर दी। इसके बाद ताराचंद को माफी तक मांगनी पड़ी। इसी बीच कांस्टेबल को भनक लगी कि उसे पुलिस लाइन भेजने की तैयारी चल रही है। तभी उसने मंगलवार रात शराब पीकर थाने में हंगामा काटा।