यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

विधायक विजय मिश्र से मुक्त कराई गई भूमि पर बनेगा पर्यटन थाना, भदोही के एसपी को भूमि देंगे जिलाधिकारी


🗒 मंगलवार, दिसंबर 29 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
विधायक विजय मिश्र से मुक्त कराई गई भूमि पर बनेगा पर्यटन थाना, भदोही के एसपी को भूमि देंगे जिलाधिकारी

भदोही,  विधायक विजय मिश्र से मुक्त कराइ गई सरकारी भूमि पर पर्यटन थाना का निर्माण कराया जायेगा। जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद ने भूमि की पुलिस विभाग को देने का प्रस्ताव किया है। सोमवार की स्थलीय निरीक्षण कर इसका खाका भी तैयार कर लिया गया है।ऊंज थाना क्षेत्र के नवधन  नेशनल हाईवे -19 पर विधायक ने दो बीघा 7 बिस्वा सरकारी भूमि पर अवैध तरीके से बाउंड्रीवाल का निर्माण कर कब्जा कर लिया था। भदोही विधायक रवींद्रनाथ त्रिपाठी की शिकायत पर मामले की जांच कराई गई। सितंबर 2020 में तहसीलदार ज्ञानपुर के कोर्ट में बेदखली का परिवाद दाखिल कराया गया। तहसीलदार कोर्ट ने सरकारी भूमि से बेदखल कर दिया। इसके खिलाफ विधायक ने डीएम कोर्ट में अपील दाखिल की। डीएम कोर्ट ने रिमांड करते हुए तहसीलदार को फिर से सुनवाई करने का आदेश दिया था। सुनावई करते हुए तहसीलदार कोर्ट ने फिर बेदख़ल कर दिया। इस आदेश को डीएम कोर्ट में चुनौती दी गई। सुनवाई के बाद अदालत ने अपील खारिज करते हुए बेदखल कर दिया। 18 दिसम्बर को विधायक के कब्जे से सरकारी भूमि मुक्त कराई गई। इस मामले में उनके खिलाफ ऊंज थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई। जिलाधिकारी ने बताया कि विजय मिश्र से मुक्त कराई गई सरकारी भूमि पर पर्यटन थाना का निर्माण कराया जायेगा। शीघ्र ही प्रक्रिया पूरी करते हुए भूमि पुलिस विभाग को दे दिया जायेगा। बताया कि पर्यटन थाना बन जाने से प्रयागराज, वाराणसी, विंध्याचल और सीतामढ़ी आने- जाने वाले पर्यटकों को सहूलियत मिलेगी। उनकी किसी समस्या का समाधान इस थाने पर हो जायेगा। उन्हें इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा।

भदोही से अन्य समाचार व लेख

» कचरा डालने को लेकर हुई मारपीट में एक की मौत

» विधायक विजय मिश्र के करीबी गिरफ्तार, दो अवैध पिस्टल जब्त

» अध्यापिका की तहरीर के बाद प्रिंसिपल पर छेड़खानी का FIR दर्ज

» भदोही में जन्‍माष्‍टमी का आयोजन रोककर किया पथराव

» एसटीएफ वाराणसी को सौंपी गई विधायक विजय मिश्र और बेटे विष्णु की जांच