पहले था मजबूर भारत, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बनाया मजबूत - मुख्‍यमंत्री योगी

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पहले था मजबूर भारत, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बनाया मजबूत - मुख्‍यमंत्री योगी


🗒 गुरुवार, दिसंबर 31 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पहले था मजबूर भारत, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बनाया मजबूत - मुख्‍यमंत्री योगी

भदोही,। कालीन नगरी में कारपेट एक्सपो मार्ट समेत 197.21 करोड़ की सौगात देने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व की सरकारों पर जमकर निशाना साधा। कहा कि 1947 से 2014 तक सरकारों ने मजबूर भारत बना दिया था, जबकि पीएम नरेंद्र मोदी ने मजबूत भारत बनाया है। पहले की सरकारें कर क्या रहीं थीं। गरीबों को मकान, शौचालय, रसोई गैस कनेक्शन, पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा और किसान सम्मान निधि का लाभ क्यों नहीं दिया, उनके एजेंडे किसान, गांव, गरीब, नौजवान व महिलाएं थी ही नहीं। उनके एजेंडें में सिर्फ जाति और परिवार था। वे मजहब के आधार पर देश को छिन्न-भिन्न किये। सीएम ने गुरुवार को दोपहर कारपेट सिटी में मार्ट के लोकार्पण कार्यक्रम में कहा कि कोरोना काल में विश्व की बड़ी ताकतें पस्त हो गईं लेकिन पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत पूरी मजबूती से लड़ा। आज देश बदल चुका है। दुनिया में धमक के साथ भारत बढ़ रहा। छह साल पहले दुनिया भारत को पिछलग्गू देश मानती थी लेकिन आज विश्व के कई देश भारत के पीछे जाने को मजबूर हैं। ऐसा स्वदेशी उत्पादों की वजह से हुआ है। इन्हें और प्रोत्साहन देने की जरूरत है।उत्तर प्रदेश के हर जिले की विशिष्ट पहचान है, वही अनमोल धरोहर हैं। यहां के लोगों ने बिना सरकारी प्रोत्साहन अपने परिश्रम से भदोही को दुनिया में अहम स्थान दिलाया। पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत बनाने को एक जनपद, एक उत्पाद योजना 2018 में शुरू की थी। इसमें सरकार बनारस की साड़ी, भदोही की कालीन, सिद्धार्थनगर का काला नमक चावल व कौशांबी के अमरुद को अंतरराष्ट्रीय मंच मिलेगा। चंदौली की ब्लैक राइस बाजार में 700 रुपये तक बिक रही है। मार्ट से उन्हें पहचान मिलेगी।सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश संभावनाओं वाला राज्य है। अबकी दीवाली  मिट्टी व गोबर के दीप हर घर में जले तो खुशहाली आ गई। अयोध्या में सात लाख जबकि देव दीपावली पर वाराणसी मेें 30 लाख दीप जलाये गये, इससे काशी को नई पहचान मिली।सीएम ने कहा कि भदोही के हस्तशिल्पियों ने कमाल कर दिया। देश से 5000 करोड़ का कालीन निर्यात होता है, 80 फीसद हिस्सेदारी सिर्फ भदोही की रही। सात हजार करोड़ निर्यात मुरादाबाद के ब्रास आइटम का हो रहा। कन्नौज के इत्र को नई तकनीक मिली। फिरोजाबाद में ग्लास के आइटम लोहा मनवा रहे हैं। हार्डवेयर में  अलीगढ़, स्पोट््र्स उत्पाद में मेरठ व गोरखपुर के टेराकोटा को प्रोत्साहित करने को एक्सपो मार्ट और ट्रेड फैसिलटेशन सेंटर बनाएंगे।