यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बिजनौर में पोस्टमार्टम हाउस पर हंगामा


🗒 मंगलवार, जुलाई 20 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
बिजनौर में पोस्टमार्टम हाउस पर हंगामा

बिजनौर,  बिजनौर जिले में बैंक के अलावा कई निजी फाइनेंस कंपनियों के दफ्तर खोल रखे हैं। उनका करोड़ों का कारोबार है, लेकिन सुरक्षा के नाम पर कुछ नहीं है। सुरक्षा गार्ड, तो दूर कुछ के पास तो सीसीटीवी कैमरे नहीं हैं। वहीं मुथूट फाइनेंस दफ्तर में लूट का प्रयास और युवक की मौत के मामले में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस आसपास के इलाके की फुटेज और सर्विलांस के माध्यम से बदमाश की तलाश में जुटी है।सोमवार को जिले में लूट की बड़ी वारदात होने से बच गई। इसके पीछे लापरवाही कम नहीं है। गोल्ड पर लोन देने वाले इस दफ्तर में करोड़ों का काम होता है। घटना के बाद पूरी पोल खुल गई। वारदात के समय मुथूट फाइनेंस दफ्तर पर कोई सुरक्षा गार्ड नहीं था। इतना ही नहीं बाहर की ओर कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा था। अंदर आने वाले किसी व्यक्ति की कोई रोकथाम नहीं थी। पूरे दफ्तर में तीन कर्मचारी थे। हालांकि घटना के बाद फाइनेंस दफ्तर में मंगलवार को गार्ड रख लिया गया। यह हाल इसी फाइनेंस दफ्तर का नहीं है। जिलेभर में काफी संख्या में फाइनेंस दफ्तर खुले हुए हैं। अधिकांश पर गार्ड नहीं हैं। घटना होने के बाद ही यह लापरवाही सामने आती है। करोड़ों का कारोबार करने वाले संचालक भी एक गार्ड नहीं रख पाते हैं। फाइनेंस कारोबारी घटना के बाद सचेत होते हैं।शास्त्री चौक चौराहे के सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए तो वह खराब मिले। चौराहों पर एक भी कैमरा सही नहीं मिला है। कुछ समय पूर्व नगर पालिका की ओर से कैमरे लगाए गए थे। रखरखाव नहीं होने के चलते वह बंद हो गए। किसी ने इसका ध्यान नहीं दिया, इसलिए शास्त्री चौक पर बदमाश के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई।व्यापार मंडल के महामंत्री मुनीष त्यागी ने मंगलवार को कप्तान से मुलाकात की। उन्होंने घटना का राजफाश करने की मांग की। उन्होंने व्यापारियों से अपील करते हुए कहा कि बड़े प्रतिष्ठानों और फाइनेंस का काम करने वालों को गार्ड और कैमरे की व्यवस्था करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सोमवार को लूट के प्रयास के दौरान पुलिस तुरंत मौके पर पहुंच गई। तब से ही एसपी के नेतृत्व में टीमें काम कर रही हैं। उन्होंने पूरी सुरक्षा का भरोसा दिलाया है।बैंकों की रुटीन चेकिंग की जाती है। निजी फाइनेंस दफ्तरों की भी जांच की जाएगी। किसी के पास गार्ड और सीसीटीवी कैमरे नहीं मिले तो कार्रवाई की जाएगी। नगर पालिका से बात कर सीसीटीवी कैमरे ठीक कराए जाएंगे। पुलिस 24 घंटे सुरक्षा के लिए मुस्तैद है।डा. धर्मवीर सिंह, एसपी

बिजनौर से अन्य समाचार व लेख

» विकास की बुलंदियां छू रहा है उत्‍तर प्रदेश - सीएम योगी

» पैसे मांगने पर पुत्र ने पिता को उतारा मौत के घाट

» दुष्कर्म का विरोध करने पर खिलाड़ी का किया था मर्डर, आरोपित गिरफ्तार

» बिजनौर में कोल्हू स्वामी की गोली मारकर हत्या

» पुलिस के हत्थे चढ़ा राष्ट्रीय खिलाड़ी का हत्यारोपित