यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

महिला दारोगा ने पंखे से लटक दी जान, बुलंदशहर में डेढ़ साल से थी तैनात


🗒 शुक्रवार, जनवरी 01 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
महिला दारोगा ने पंखे से लटक दी जान, बुलंदशहर में डेढ़ साल से थी तैनात

बुलंदशहर, बुलंदशहर में तैनात एक महिला दारोगा ने फांसी लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली। इस सूचना पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। सूचना पर पुलिस के उच्‍च अधिकारी तक आनन-फानन में पहुंच गई। पुलिस ने महिला दारोगा का शव मकान से बरामद किया है। अभी आत्‍महत्‍या के वजह का पता नहीं चल पाया है। जानकारी के अनुसार थाना अनूपशहर में तैनात महिला दारोगा आरजू पंवार डेढ़ साल से तैनात थी।मूलरूप से शामली के गांव भैंसवाल की रहने वाली आरजू पंवार 2015 बैच की उप निरीक्षक थी। करीब दो साल पहले उनका पोस्टिंग बुलंदशहर में हुआ था और पिछले डेढ़ साल से वह अनूपशहर थाने में तैनात थी। उन्होंने किराए का मकान वहीं एलडीएम इंटर कॉलेज के पास विपिन भारद्वाज के मकान में किराए पर रहती थी। रोजाना खाना भी इसी परिवार के साथ खाती थी। नव वर्ष के पहले दिन शुक्रवार को शाम वह अपने कमरे पर पहुंची थी।विपिन के परिवार ने बताया कि खाने के लिए बार-बार बुलाने पर जब यह नही आई तो विपिन ने नजदीक ही रहने वाले सिपाही सन्नी चौधरी को बताया तो उसने आकर झांका और देखा कि आरजू चुन्नी का फंदा बनाकर लटकी हुई थी। इस दौरान उनके मोबाइल पर भी कई मिस कॉल पड़ी थी। कुछ देर में ही इंस्पेक्टर अरुणा राय भी पहुंच गई। एसएसपी संतोष कुमार सिंह भी पहुंच गए है। बताया जा रहा कि अगले महीने फरवरी में इनकी शादी होनी थी। पुलिस ने आरजू के स्वजनों को भी सूचना दे दी है। एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि बेड पर दो लाइन का सुसाइड नोट मिला है जिसमे आत्महत्या के लिए महिला दारोगा ने स्वयं को जिम्मेदार बताया है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। 

बुलंदशहर से अन्य समाचार व लेख

» बुलंदशहर में दो पक्षों में चले लाठी-डंडे, पांच घायल,

» बुलंदशहर में दहेज के लिए विवाहिता को इतना पीटा कि हो गया गर्भपात

» बुलंदशहर में आबकारी टीम ने पुलिस के साथ मिलकर पकड़ी 50 लाख की शराब

» बुलंदशहर में दहेज में कार न दी तो ससुर की छेड़छाड़,

» बुलंदशहर में नशीला पदार्थ पिलाकर महिला से दुष्कर्म