यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अब सरकार की इस हेल्थ स्कीम से करोड़ों परिवारों को मिलेगा 5 लाख रुपये तक का बीमा


🗒 शुक्रवार, अगस्त 17 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

इस 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयुष्मान भारत- नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम चालू करने का ऐलान किया। आयुष्मान भारत योजना को 'मोदीकेयर' के नाम से भी जाना जाता है। केंद्र सरकार की ओर से इस स्कीम को 25 सितंबर को लॉन्च किया जा सकता है। इस योजना के तहत करीब 10 करोड़ परिवारों को प्रति वर्ष पांच लाख रुपये का मेडिकल कवर मिलेगा। सरकार के अनुसार, यह योजना ट्रस्ट मॉडल या इंश्योरेंस मॉडल पर काम करेगी और पूरी तरह कैशलेस होगी। एसईसीसी (सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना) डेटाबेस ने बताया है कि, इस योजना से 10 करोड़ से अधिक गरीब आबादी वाले परिवारों को फायदा पहुंचेगा।

अब सरकार की इस हेल्थ स्कीम से करोड़ों परिवारों को मिलेगा 5 लाख रुपये तक का बीमा

जानिए इस योजना से जुड़ी 5 बड़ी बातें -

  1. 'आयुष्मान भारत' योजना ग्रामीण और शहरी आबादी दोनों को कवर करेगी। सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना (एसईसीसी) डेटा के अनुसार 10.74 करोड़ गरीब, वंचित ग्रामीण परिवारों और शहरी श्रमिकों के परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा।
  2. इस योजना में परिवार के सभी सदस्य शामिल होंगे। इसमें विशेष रूप से महिलाएं, बच्चे और बुजुर्गों को फायदा पहुंचेगा।
  3. कुछ मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस योजना के लाभ कवर में वर्तमान और पूर्व में अस्पताल में भर्ती सभी खर्च शामिल होंगे। पॉलिसी के पहले दिन से सभी पूर्व और मौजूदा स्थितियों को इसमें कवर किया जाएगा। इसके तहत अस्पताल में भर्ती लाभार्थी को परिवहन भत्ता भी दिया जाएगा।
  4. इस योजना के तहत बीमित व्यक्ति सिर्फ सरकारी ही नहीं बल्कि निजी अस्पतालों में भी इलाज करा सकेगा। आयुष्मान भारत योजना का लाभ पूरे देश में पोर्टेबल है।
  5. आयुष्मान भारत योजना के तहत, उपचार के लिए भुगतान पैकेज दर के आधार पर किया जाएगा। पैकेज दरों में उपचार से जुड़े सभी खर्च शामिल होंगे।

क्या है आयुष्मान भारत योजना?

आयुष्मान भारत योजना की घोषणा आम बजट 2019 के दौरान की गई थी। इस योजना के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों को 5 लाख रुपए तक के फ्री हेल्थ इंश्योरेंस की सुविधा मुहैया करवाई जाएगी। इसमें लगभग सभी गंभीर बीमारियों का इलाज कवर होगा। कोई भी व्यक्ति (विशेष रूप से महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग) इलाज से वंचित न रह जाए, इसके लिए स्कीम में फैमिली साइज और उम्र पर कोई सीमा नहीं लगाई गई है।

बिज़नेस से अन्य समाचार व लेख

» आरबीआई रुपये की गिरती कीमत को ऐसे थाम सकता है

» पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में नहीं चाहते कई राज्य, राजस्व पर बुरा असर पड़ेगा

» समझिए घर की आर्थिक सुरक्षा के लिए होम इंश्योरेंस पालिसी लेना क्यों है जरूरी

» अब विदेश स्थित संपत्तियों पर भी लागू हो सकता है दिवालिया कानून, मामलों का जल्‍द होगा निपटारा

» IPPB का लॉन्च अटल बिहारी वाजपयी के निधन के चलते टला

 

नवीन समाचार व लेख

» फतेहपुर मे सोमवती अमावस्या पर गंगा में नहा रहे चाचा-भतीजे और एक बच्चे की डूबकर मौत

» जिला अलीगढ़ में बच्ची की हत्या के मामले में टप्पल थाने के इंस्पेक्टर लाइन हाजिर, संजय ने संभाला चार्ज

» यमुना एक्सप्रेस वे पर भीषण हादसा, बस पलटने से चार यात्रियों की मौत

» प्रयागराज के घूरपुर में युवक की हत्या, नाले में फेंका शव

» अतीक अहमद को कड़ी सुरक्षा में लाया गया एयरपोर्ट, भेजा गया अहमदाबाद