यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पीडीडीयू जंक्‍शन पर बोगी के नीचे मौजूद थे रेलकर्मी और ट्रेन चल पड़ी, वीडियो वायरल


🗒 शनिवार, जुलाई 17 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पीडीडीयू जंक्‍शन पर बोगी के नीचे मौजूद थे रेलकर्मी और ट्रेन चल पड़ी, वीडियो वायरल

चंदौली,। पीडीडीयू जंक्‍शन पर गुरुवार की देर रात बड़ी दुघर्टना होने से बच गई। दरअसल जंक्‍शन पर ट्रेन में तकनीकी समस्‍या दूर करने के लिए दो कर्मचारी बोगी के नीचे मौजूद थे और अचानक ट्रेन चल पड़ी और कर्मचारी अपनी जान बचाने के लिए ट्रेन के नीचे पटरी के बीच लेट गए। इसके बाद ट्रेन किसी तरह चेन पुलिंंग करके रोकी गई तो दोनों कर्मचारी सही सलामत मिले, इससे साथियों की जान में जान आई। इस दौरान ट्रेन गुजरने लगी तो तक सभी कर्मचारियों की सांसें अटकी हुई थीं। इतने बड़े स्‍तर की लापरवाही सामने आने की जानकारी होने के बाद शीर्ष अधिकारियों में हड़कंप मच गया। इस बाबत मौके पर मौजूद विभागीय स्‍टाफ से पूछताछ भी की गई। इस मामले का वीडियो भी शुक्रवार को वायरल हो गया। वायरल वीडियो में रेलवे की लापरवाही की पूरी दास्‍तान कैद है।वायरल वीडियो में कुछ कर्मचारी लाइट जलाकर बोगी के नीचे तकनीकी खराबी दूर कर रहे थे। वहीं पूरे घटनाक्रम का रिकार्ड के तौर पर वीडियो बना रहे विभगीय कर्मचारी उस समय दहशत में आ गए जब ट्रेन चल पड़ी। इसके बाद हादसे की आशंका में रेलवे कर्मचारी पटरी के बीच ही लेट गए। इसी दौरान दूसरे कर्मचारी अचानक भागकर दौड़ते हुए बोगी में घुले और ट्रेन की चेन पुलिंंग कर ट्रेन को रोका। इसके बाद नीचे फंसे रेल कर्मचारियों को सहयोगियों की मदद से बाहर निकाला गया। यह वाकया देखकर सभी रेलकर्मी काफी देर तक दहशत में रहे। वहीं इस वाकये की जानकारी रात में ही आला अधिकारियों को दी गई। इसके बाद आरपीएफ इंस्‍पेक्‍टर संजीव कुमार सहित अन्‍य विभागीय लोग पहुंचे और पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली। पीडीडीयू जंक्‍शन के प्‍लेटफार्म संख्‍या छह की यह घटना कर्मचारियों के अनुसार रात 10:23 बजे की है। रात में हल्दिया से आनंद बिहार स्‍पेशन ट्रेन में एस 5 स्‍लीपर कोच में एक्‍सल का नट ढीला होने की शिकायत कैरेज विभाग को दी गई। इसके बाद कर्मचारी कोच के नीचे जाकर इसे ठीक करने में जुटे थे। कर्मचारियों के अनुसार इंजन के आगे नियमानुसार रेड बोर्ड और स्‍टेशन मास्‍टर को कोई सूचना नहीं दी गई। लिहाजा तक समय तक ठहराव के बाद ट्रेन आगे गंतव्‍य के लिए रवाना हो गई और कर्मचारी नीचे पटरी पर लेट कर जान बचाए। इसके बाद अधिकारियों को सूचना देने के बाद ट्रेन को आगे की ओर रवाना किया गया।