यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

डकैत गौरी यादव हुआ पांच लाख का इनामी


🗒 शुक्रवार, जुलाई 02 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
डकैत गौरी यादव हुआ पांच लाख का इनामी

चित्रकूट,। यूपी व एमपी के सरहद के जंगल में करीब चार दशक से कोई न कोई पांच लाख का इनामी डकैत रहा है। सबसे पहले डकैत शिवकुमार पटेल उर्फ ददुआ में इतना बड़ा इनाम हुआ। उसके बाद डकैत अंबिका पटेल उर्फ ठोकिया, सुंदर पटेल उर्फ रागिया, सुदेश पटेल उर्फ बलखडिया और बबली कोल पर पांच लाख के इनाम हुए लेकिन सभी मारे गए। बीते साल बबली कोल के मारे जाने के बाद पाठा का जंगल पांच लाख इनामी डकैतों से मुक्त हो चुका था। सिर्फ डेढ़ लाख इनामी गौरी यादव था। जो छिपा-छिपा फिरता था। हालांकि उसने इधर कोई बड़ी घटना भी नहीं की है फिर भी यूपी सरकार ने उस पर एक से बढ़ाकर पांच लाख इनाम कर दिया है। जबकि एमपी से सिर्फ 50 हजार रुपये है। अब यह डकैत साढ़े पांच लाख इनामी है यूपी व एमपी पुलिस बहुत तेजी इसके तलाश में जुटी है।बहिलपुरवा थाना के बिलहरी का रहने वाला उदयभान उर्फ गौरी यादव 19 वीं शदी के नौवें दशक में खेती किसानी करता था। उस समय पाठा के जंगल में डकैत ददुआ व ठोकिया की दहशत थी। जिनके खात्मे के लिए पुलिस ने गौरी को तैयार किया था। पांच लाख से बड़े इनामी दोनों डकैतों के साथ इसको लगा दिया था। पुलिस इसकी मदद से ददुआ व ठोकिया को तो नहीं मार सकी। जंगल की राह पकड़ने वाला गौरी खुद धीरे-धीरे पुलिस के लिए मुसीबत बन गया। डकैत गौरी यादव को वर्ष 2001 में डकैत रामगापोल यादव उर्फ गोप्पा का साथ मिल गया। दोनों सरकारी कामकाज में कमीशन वसूलने के साथ ठेकेदारों और मजदूरों से मारपीट करने लगे। डकैत डौरी को वर्ष 2008 में एसटीएफ ने मुठभेड़ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। दो साल बाद छूटकर वह अपना अलग गैंग चलाने लगा था। 16 मई 2013 को गांव बिलहरी में दिल्ली के दरोगा की गोली मार हत्या कर दी थी। तभी से पुलिस उसको खोज रही थी। तभी उस पर यूपी पुलिस एक लाख का इनाम घोषित कर दिया। उसने 2017 में कोल्हुआ के जंगल में एक ही गांव के तीन लोगों को जिंदा जला दिया था। डकैत गौरी यादव में पांच लाख इनाम बढ़ाने का प्रस्ताव आइजी जोन चित्रकूटधाम मंडल बांदा व एडीजी जोन प्रयागराज ने भेजा था। जिसकी संस्तुति प्रदेश सरकार ने कर दी है। अब गौरी पर साढ़े पांच लाख इनाम हो गया है। 50 हजार मध्यप्रदेश से है। - अंकित मित्तल, पुलिस अधीक्षक

चित्रकूट से अन्य समाचार व लेख

» वन कर्मियों से मारपीट के मामले में डकैत गौरी के दो साथी गिरफ्तार

» पत्नी के वापस न आने पर पति ने खुद और बच्चे को पिलाया कीटनाशक

» चित्रकूट में प्रेमिका से मिलने आए युवक को खंभे में बांधकर पीटा, वीडियो वायरल

» चित्रकूट में नया मोबाइल खरीदने के लिए रुपये न मिलने पर किशोर ने खुद को गोली से उड़ाया

» दरवाजे पर दूल्हा लेकर आया बरात और दुल्हन ने थाम लिया प्रेमी का हाथ

 

नवीन समाचार व लेख

» उत्तर प्रदेश विधानसभा के सदस्य (विधायक)

» मृतक के करीबी रिश्तेदार की साक्ष्य महत्ता खारिज नहीं की जानी चाहिए: सुप्रीम कोर्ट

» लापता व्यापारी का शव तालाब के पास मिला

» नाबालिग साथी ने 120 रुपये के लिए की थी दोस्त की हत्या, शरीर के किए थे 11 टुकड़े

» उड़ीसा से गांजा खरीद यूपी के कई राज्यों में बेचते थे तस्कर, इटावा पुलिस ने बदमाशों को किया गिरफ्तार