यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

देवरिया जेल की बैरक के पास से सीबीआइ को मिली जानवरों की हड्डी


🗒 सोमवार, जून 24 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
देवरिया जेल की बैरक के पास से सीबीआइ को मिली जानवरों की हड्डी

बाहुबली अतीक अहमद का देवरिया जेल में अपना राज चलता था। बाहुबली के कहने पर उसे गोश्त के साथ लजीज व्यंजन भी परोसे जाते थे। सूत्रों का कहना है कि बैरक संख्या सात के पीछे सीबीआइ ने जांच की तो बकरा व अन्य जानवरों की हड्डी भी दबी हुई मिली। जिसे सीबीआइ ने अपने कब्जे में ले लिया है, इसकी भी सीबीआइ जांच कराएगी।देवरिया जेल की गिनती पहले सख्त जेलों में होती रही, लेकिन 2017 अप्रैल में बाहुबली अतीक के शिफ्ट होने के बाद इस जेल के नियम व कानून सभी ताख पर हो गए। बाहुबली अतीक जेल के अंदर से अपना राज चलाने लगा। जेल प्रशासन ने उससे मिलने वाले लोगों के लिए जहां पूरी छूट दे दी, वहीं उसके खाने व रहने की भी विशेष व्यवस्था की जाती। उसके सेवादार के रूप में बंदियों को लगाया गया था, उसके खाने के लिए लजीज व्यंजन की व्यवस्था भी की जाती रही।सूत्रों का कहना है कि पीडि़त मनीष को भी सीबीआइ अपने साथ ही रखी है। जिस बैरक नंबर सात में अतीक रहता था, सीबीआइ आने के बाद उसी बैरक की जांच कर रही है। एक-एक जगहों की ठीक से जांच करने के साथ ही पीछे तक जांच की। जांच में कुछ हड्डी मिली, जिसे देखने से यह लग रहा है कि बकरे का हड्डी है। हालांकि जेल प्रशासन कुछ भी कहने से बच रहा है।