यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

भूम‍ि व‍िवाद में गोली मारकर सगे भाइयों की हत्या


🗒 मंगलवार, नवंबर 23 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
भूम‍ि व‍िवाद में गोली मारकर सगे भाइयों की हत्या

देवरिया ,  देवरिया जनपद के बरहज थाना क्षेत्र के चकरा नोनार गांव में मंगलवार को भूमि विवाद में दो सगे भाईयों की गोली मारकर हत्या कर दी गई। छह लोग घायल हो गए। जिन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिला अस्पताल पहुंचे पुलिस अधीक्षक से पुलिस पर शिथिलता बरतने का स्वजन ने आरोप लगाया। उधर घटना के बाद सनसनी फैल गई है। गांव में सीओ के नेतृत्व में पांच थानों की पुलिस तैनात कर दी गई है। मौके से पुलिस ने घटना में प्रयुक्त रिवाल्वर, एक कट्टा व कारतूस भी बरामद किया है। कुछ लोग हिरासत में भी लिए गए हैं।गांव के बेचू यादव के परिवार के भाई लल्लन यादव का निधन हो गया है। जिनका दो दिन बाद ब्रह्मभोज है। परिवार के सदस्य ब्रह्मभोज के लिए मंगलवार की सुबह भूमि की सफाई कर रहे थे। कहा जा रहा है कि उस भूमि को लेकर पड़ोसी बैजनाथ यादव के परिवार से विवाद चल रहा है। सफाई को लेकर दूसरे पक्ष के लोग मौके पर पहुंच कर फायरिंग करने लगे। जिससे मौके पर खलबली मच गई। इस दौरान रमेश यादव, कोकिल यादव, बेचू यादव, लालधारी यादव, अंकि, शिवानंद यादव, देवानंद यादव समेत आठ लोग घायल हो गए। सभी को इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां चिकित्सक ने रमेश यादव, कोकिल यादव को मृत घोषित कर दिया।घटना के बाद ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ गया है। इसको देखते हुए गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। सीओ देवानंद के नेतृत्व में बरहज, भलुअनी, मदनपुर, एकाैना, मईल, खुखुंदू थाने की पुलिस के साथ ही पीएसी तैनात कर दी गई है। जबकि जिला अस्पताल में पुलिस अधीक्षक डा.श्रीपति मिश्र, एएसपी राजेश कुमार सोनकर, सीओ सिटी श्रीयश त्रिपाठी मौजूद हैं।जिला अस्पताल के इमरजेंसी से साढे तीन घंटे बाद दोनों भाइयों का शव उठाया गया। सीओ सदर श्रीयश त्रिपाठी और सदर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अनुज कुमार सिंह ने स्वजन को समझा-बुझाकर शांत कराया। उसके बाद दोनों शव को शव वाहन में लाद कर पोस्ट मार्टम हाउस के लिए भेजा गया।भूमि विवाद में गोली चली है। दो लोगों की मौत हुई है। घायलों का इलाज चल रहा है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए एसओजी समेत अन्य टीमें लगाई गई हैं। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। शांति व्यवस्था के लिए गांव में पुलिस व पीएसी लगा दी गई है। - डा. श्रीपति मिश्र, एसपी, देवरिया।