यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्जी दस्तावेज बनाते हुए दो सगे भाई रंगे हाथ गिरफ्तार


🗒 रविवार, अप्रैल 03 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
फर्जी दस्तावेज बनाते हुए दो सगे भाई रंगे हाथ गिरफ्तार

देवरिया  , । देवरिया पुलिस व तहसील प्रशासन की संयुक्त टीम ने पथरदेवा कस्बे में फर्जी प्रमाण पत्र व दस्तावेज तैयार करते हुए रंगेहाथ दो सगे भाइयों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से बड़ी संख्या में फर्जी दस्तावेज, अधिकारियों की मुहर आदि बरामद हुआ है। दोनों के विरुद्ध तरकुलवा थाने में मुकदमा दर्ज कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। यह जानकारी एसडीएम सदर सौरभ सिंह व सीओ सदर श्रीयश त्रिपाठी ने पुलिस लाइंस स्थित प्रेक्षागृह में रविवार को आयोजित प्रेसवार्ता में दी।एसडीएम सदर व सीओ नगर के नेतृत्व में प्रभारी निरीक्षक तरकुलवा ने पुलिस टीम के साथ पथरदेवा कस्बा स्थित जेआइआइटी इंस्टीट्यूट आफ इंफार्मेशन टेक्नोलाजी पर दबिश दी। टीम ने फर्जी दस्तावेज बनाते हुए दो सगे भाइयों को रंगेहाथ पकड़ा गया। टीम ने तरकुलवा के शाहपुर पुरैनी गांव के रहने वाले जितेंद्र कन्नौजिया व सत्येंद्र कन्नौजिया पुत्रगण नंदलाल कन्नौजिया के पास से 107 फर्जी निवास प्रमाण पत्र, 148 जाति प्रमाण पत्र, छह निर्वाचन पहचान पत्र, सात ई-श्रम कार्ड, 35 आधार कार्ड, 21 मोहर बरामद किया। यह मुहर उप जिलाधिकारी सदर, कार्यालय तहसीलदार सदर देवरिया, ग्राम पंचायत राज अधिकारी गोपालगंज बिहार, ग्राम पंचायत अधिकारी शाहपुर पुरैनी आदि के नाम से बनाए गए थे।इसके अलावा बिहार का 35 निवास प्रमाण पत्र, 21 जाति प्रमाण पत्र, तीन लैपटाप, दो की-बोर्ड, दो माउस, दो प्रिंटर, एक प्रोसेसर, दो फिंगर प्रिंट स्कैनर बरामद किया गया। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि लोगों से अधिक रुपये लेकर फर्जी दस्तावेज तैयार करते थे। सहज जनसेवा केंद्र का लाइसेंस नहीं है। जांच में बरामद प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए।

देवरिया से अन्य समाचार व लेख

» प्रधान के घर लिखी जा रही थी बोर्ड परीक्षा की कॉपियां, किशोर समेत नौ लोग गिरफ्तार

» दिनदहाड़े कैश वैन लूटने का प्रयास, गोली मारकर भाग रहे बदमाश को गार्ड ने मारी गोली, गिरफ्तार

» पोखरे में स्नान करने गए दो बच्चों की डूबने से मौत

» ट‍िकट कटने से फूट-फूटकर रोए सपा नेता

» किराना कारोबारी ने फांसी लगाकर जान दी