यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कांग्रेस व सपा-बसपा गठबंधन ने नहीं खोले पत्ते, भाजपा में भी इंतजार


🗒 शुक्रवार, मार्च 22 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

सपा-बसपा गठबंधन ने वैसे तो पूरे प्रदेश का राजनीतिक समीकरण बदला है, लेकिन कुशीनगर लोकसभा में यह समीकरण कुछ अधिक ही बदला दिख रहा है। कांग्रेस ने राजदरबार के सदस्य आरपीएन सिंह को फिर से मैदान में उतारा है तो सपा ने अभी किसी पर दांव नहीं लगाया है। भाजपा में भी अभी उम्मीदवार को लेकर इंतजार है। पिछले लोकसभा के मुकाबिल बदले राजनीतिक समीकरण को नए तरीके से साधने में सभी दल लगे हैं। पिछली बार बसपा और सपा ने अलग-अलग खम ठोंका था तो अब हाथ मिलाकर मैदान में हैं। अपनी सियासी जुगलबंदी से गठबंधन जीत की ओर बढऩे की कोशिश करेगा तो राज दरबार को जीत की दरकार होगी और भाजपा के सामने अपनी सीट बचाए रखने की चुनौती।

कांग्रेस व सपा-बसपा गठबंधन ने नहीं खोले पत्ते, भाजपा में भी इंतजार

मतलब राजनीतिक समीकरण पूरी तरह से बदला होगा। ऐसे में पुराने सियासी दांव से इतर नए पैंतरे चलने की जुगत में सभी दल होंगे। आजादी के बाद सोशलिस्ट पार्टी, कांग्रेस, जनता दल, भाजपा यहां तक की निर्दल प्रत्याशी ने भी जीत दर्ज की है, लेकिन कभी बसपा या सपा ने जीत का स्वाद नहीं चखा। लोकसभा चुनाव में पहली बार उनका गठबंधन मैदान में होगा तो भाजपा व कांग्रेस अपनी परंपरागत सीट पर काबिज होने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे। बदले सियासी समीकरण से बदले सियासी मिजाज को समझने में सभी दल लगे हैं तो इसको भांपने में मतदाता भी पीछे नहीं हैं।

वर्ष 2014 के चुनाव में किसको कितना मिला वोट

भाजपा 370051 (38.92 फीसद)

कांग्रेस 284511 (29.92 फीसद)

सपा 132881 (13.98 फीसद)

सपा 11256 (11.70 फीसद)

2009 के तुलना में किसको कितना फायदा और नुकसान फीसद

भाजपा  + 16.73 फीसद

कांग्रेस  - 0.71 फीसद

बसपा - 13.77 फीसद

सपा + 4.15 फीसद

चुनाव से अन्य समाचार व लेख

» वर्तमान लोकसभा मे 20 चेहरे पवेलियन में...किसी का टिकट कटा तो कोई लड़ नहीं रहा

» UP के तीन चरणों में दिग्गजों का बड़ा इम्तिहान

» भदोही संसदीय सीट से BJP प्रत्याशी ने हलफनामे में खुद को बताया बसपा का उम्मीदवार, सोशल मीडिया पर शपथपत्र वायरल

» 4थे चरण में 26 उम्मीदवारों पर गंभीर आपराधिक मामले, साक्षी महाराज पर सबसे अधिक

» लोकसभा चुनाव 2019 मे तीसरे चरण के समीकरणों ने बढ़ाई पुलिस की चिंता, कई दिग्गज मैदान में होने से बढ़ी संवेदनशीलता

 

नवीन समाचार व लेख

» हजरतगंज पुलिस ने 200 करोड़ की ठगी में रोहतास का वॉइस प्रेसीडेंट को गिरफ्तार किया

» राजधानी मे पांच लाख की सुपारी देकर व्यवसायी ने कराई प्रॉपर्टी डीलर की हत्या

» लखनऊ मे अपार्टमेंट से गिरकर नहीं हुई थी कारोबारी की मौत, हत्या की रिपोर्ट दर्ज

» BSP का SP के साथ गठबंधन से मोहभंग, 11 सीटों पर विधानसभा उप चुनाव अकेले लड़ने की तैयारी

» उत्तर प्रदेश विधान सभा से आजम खां व संगम लाल गुप्ता का इस्तीफा