यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अब विपक्ष ने कहा- भाजपा का संकल्प पत्र झूठ का गुब्बारा, जनता सिखाएगी सबक


🗒 सोमवार, अप्रैल 08 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

भारतीय जनता पार्टी द्वारा सोमवार को जारी 'संकल्प पत्र' की आलोचना करते हुए विपक्षी दलों ने कहा कि केंद्र सरकार के पांच वर्ष के कार्यकाल पर श्वेत पत्र जारी करना जनहित में होता। भाजपा के संकल्प पत्र को झूठ का गुब्बारा बताते हुए आरोप लगाया कि जनता इसका करारा जवाब देगी।बसपा प्रमुख मायावती ने आरोप लगाया कि भाजपा ने जनता को फिर से गुमराह करने का प्रयास किया है। संकल्प पत्र जारी करने के बजाए पिछले चुनाव में वादों पर कार्रवाई की रिपोर्ट जनता के सामने प्रस्तुत करनी चाहिए थी। सरकार ने जनता से विश्वासघात करते हुए चंद धन्ना सेठों का ही भला किया है। देश की 130 करोड़ जनता खुद को ठगा महसूस कर रही है। उन्होंने कहा कि गरीब विरोधी भाजपा का घोषणापत्र केवल छलावा ही छलावा है। भाजपा को सोचना चाहिए कि काठ की हांडी केवल एक बार चढ़ती है, बार-बार नहीं।

अब विपक्ष ने कहा- भाजपा का संकल्प पत्र झूठ का गुब्बारा, जनता सिखाएगी सबक

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा के संकल्प पत्र को एक और धोखा करार दिया और कहा कि भाजपा ने जब अपने दो संकल्प पत्रों के वादे नहीं निभाए तो अब तीसरे संकल्प पत्र पर कौन विश्वास करेगा। अखिलेश ने कहा कि किसानों, नौजवानों व व्यापारियों सहित समाज के हर वर्ग को धोखा दिया है। सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि संकल्प पत्र में कोई खास बात नहीं है। जनता भाजपा की सच्चाई समझ चुकी है और अब इसके बहकावे में आने वाली नहीं है।कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने कहा कि यह 'संकल्प पत्र' नहीं 'छलावा पत्र' है। भाजपा गत 2014 के चुनाव प्रचार में किए वादों का हिसाब जनता को दे देना चाहिए था। सरकार बताए कि पांच वर्ष में दो करोड़ प्रतिवर्ष के हिसाब से दस करोड़ युवाओं को रोजगार मिला या नहीं। किसान की आय दोगुना हुई या नहीं, बैंकखातों में 15 लाख रुपये क्यों नहीं आए? सौ स्मार्ट सिटी बनाने के दावे का क्या हुआ? उन्होंने कहा कि नए जुमलों के सहारे भाजपा एक बार फिर जनता को झांसा देना चाहती है। उन्होंने कांग्रेस के घोषणापत्र को गरीबों की हमदर्दी का दस्तावेज बताते हुए कहा कि जनता भाजपा को सबक सिखाने के लिए तैयार है।राष्ट्रीय लोकदल के प्रवक्ता अनिल दुबे ने संकल्प पत्र को झूठ फरेब की गठरी बताते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने एक बार नई बोतल में पुरानी शराब भरकर देश की जनता को गुमराह करने का कुचक्र रचा है, जो अब चलने वाला नहीं। संकल्प पत्र में पुरानी बातों को दोहराने का प्रयास किया है, जिससे यह सिद्ध हो गया है कि भाजपा सरकार अपने पांच वर्ष के कार्यकाल में पूरी तरह से फ्लाप रही है।

चुनाव से अन्य समाचार व लेख

» वर्तमान लोकसभा मे 20 चेहरे पवेलियन में...किसी का टिकट कटा तो कोई लड़ नहीं रहा

» UP के तीन चरणों में दिग्गजों का बड़ा इम्तिहान

» भदोही संसदीय सीट से BJP प्रत्याशी ने हलफनामे में खुद को बताया बसपा का उम्मीदवार, सोशल मीडिया पर शपथपत्र वायरल

» 4थे चरण में 26 उम्मीदवारों पर गंभीर आपराधिक मामले, साक्षी महाराज पर सबसे अधिक

» लोकसभा चुनाव 2019 मे तीसरे चरण के समीकरणों ने बढ़ाई पुलिस की चिंता, कई दिग्गज मैदान में होने से बढ़ी संवेदनशीलता

 

नवीन समाचार व लेख

» हजरतगंज पुलिस ने 200 करोड़ की ठगी में रोहतास का वॉइस प्रेसीडेंट को गिरफ्तार किया

» राजधानी मे पांच लाख की सुपारी देकर व्यवसायी ने कराई प्रॉपर्टी डीलर की हत्या

» लखनऊ मे अपार्टमेंट से गिरकर नहीं हुई थी कारोबारी की मौत, हत्या की रिपोर्ट दर्ज

» BSP का SP के साथ गठबंधन से मोहभंग, 11 सीटों पर विधानसभा उप चुनाव अकेले लड़ने की तैयारी

» उत्तर प्रदेश विधान सभा से आजम खां व संगम लाल गुप्ता का इस्तीफा