यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वर्तमान लोकसभा मे 20 चेहरे पवेलियन में...किसी का टिकट कटा तो कोई लड़ नहीं रहा


🗒 गुरुवार, मई 02 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

वर्तमान लोकसभा के कितने सदस्य 17वीं में दिखाई देंगे, यह तो 23 मई को नतीजे आने के बाद ही पता चलेगा लेकिन, सूबे के 25 फीसद सांसद निश्चित तौर पर नजर नहीं आएंगे। इसकी वजह यह है कि किसी न किसी वजह से वह चुनाव नहीं लड़ रहे। इनकी संख्या 20 है और इनमें ऐसे नेता भी हैैं जिन्होंने कई-कई बार सदन की देहरी लांघी है।सातों चरण की नामांकन प्रक्रिया पूरी होने के साथ ही प्रत्याशियों की तस्वीर साफ हो गई है। 16वीं लोकसभा के लिए 2014 में हुए चुनाव में सूबे से भाजपा के 71 सांसद चुने गए थे लेकिन 17वीं लोकसभा के लिए उनमें से पार्टी 47 को ही फिर लड़ा रही है। वहीं सपा के चार (मुलायम सिंह यादव, धर्मेंद्र यादव, अक्षय यादव और डिंपल यादव) और कांग्रेस के दो मौजूदा सांसद (सोनिया गांधी व राहुल गांधी) फिर चुनाव मैदान में उतरे हैैं। अपना दल की सांसद अनुप्रिया पटेल भी फिर चुनाव लड़ रही हैैं।

 वर्तमान लोकसभा मे 20 चेहरे पवेलियन में...किसी का टिकट कटा तो कोई लड़ नहीं रहा

दलबदलू सांसदों को टिकट देने में कोई भी पार्टी पीछे नहीं है। उपचुनाव में गोरखपुर सीट से सपा के जीते प्रवीण निषाद को भाजपा ने संतकबीर नगर से टिकट दिया है। इसी तरह कांग्रेस ने भाजपा सांसद रही सावित्री बाई फुले को बहराइच से ही और अशोक दोहरे को इटावा से चुनाव मैदान में उतारा हैै। सपा ने सर्वाधिक तीन दलबदलू सांसदों को टिकट दिया है। इनमें भाजपा सांसद श्यामाचरण गुप्ता को बांदा, राम चरित्र निषाद को मिर्जापुर तथा गठबंधन में शामिल रालोद की सांसद तबस्सुम हसन को कैराना से ही सपा चुनाव लड़ा रही है।17वीं लोकसभा के चुनावी मैदान में न दिखाई देने वाले मौजूदा 20 सांसदों में से भाजपा के सर्वाधिक 17 हैैं जबकि दो सपा के और एक अपना दल का है। गौर करने की बात यह है कि इनमें से 18 सांसद ऐसे हैैं जो 16वीं लोकसभा के लिए पहली बार चुने गए थे। मात्र दो सांसद डॉ. मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती ही हैं जो छह बार लोकसभा सदस्य चुने गए। हालांकि, अन्य में भले ही एक बार के सांसद हैैं लेकिन उनमें कई राज्य में मंत्री और विधायक रहें हैैं। मसलन, कलराज मिश्र और डॉ. नैपाल सिंह उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री रह चुके हैैं।

चुनाव से अन्य समाचार व लेख

» UP के तीन चरणों में दिग्गजों का बड़ा इम्तिहान

» भदोही संसदीय सीट से BJP प्रत्याशी ने हलफनामे में खुद को बताया बसपा का उम्मीदवार, सोशल मीडिया पर शपथपत्र वायरल

» 4थे चरण में 26 उम्मीदवारों पर गंभीर आपराधिक मामले, साक्षी महाराज पर सबसे अधिक

» लोकसभा चुनाव 2019 मे तीसरे चरण के समीकरणों ने बढ़ाई पुलिस की चिंता, कई दिग्गज मैदान में होने से बढ़ी संवेदनशीलता

» UP के में तीसरा चरण मे गठबंधन का इम्तिहान तो रिश्तों की परख भी

 

नवीन समाचार व लेख

» फतेहपुर मे सोमवती अमावस्या पर गंगा में नहा रहे चाचा-भतीजे और एक बच्चे की डूबकर मौत

» जिला अलीगढ़ में बच्ची की हत्या के मामले में टप्पल थाने के इंस्पेक्टर लाइन हाजिर, संजय ने संभाला चार्ज

» यमुना एक्सप्रेस वे पर भीषण हादसा, बस पलटने से चार यात्रियों की मौत

» प्रयागराज के घूरपुर में युवक की हत्या, नाले में फेंका शव

» अतीक अहमद को कड़ी सुरक्षा में लाया गया एयरपोर्ट, भेजा गया अहमदाबाद