यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

एटा-:कई सालों से मच्छर मारने की दवा का स्वास्थ्य विभाग ने नहीं कराया है छिड़काव


🗒 गुरुवार, अगस्त 29 2019
🖋 मनीष कुमार, रिपोर्टर अलीगढ
एटा-:कई सालों से मच्छर मारने की दवा का स्वास्थ्य विभाग ने नहीं कराया है छिड़काव

एटा से अरविंद यादव की रिपोर्ट-:

जिला एटा-जनपद के जलेसर अलीगंज एटा सदर किसी भी तहसील का मामला रहा हो अथवा किसी भी ब्लॉक का मामला हो कई वर्षों से मच्छर मारने की दवा का स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोई भी छिड़काव नहीं कराया गया है इस समय मीडिया की कुछ ग्रामीण लोगों से वार्ता हुई उस दौरान बुजुर्गों ने अपनी बात रखी कि पहले डीटीसी नाम की दवा का मकान तथा नालियों में छिड़काव किया जाता था जिससे मलेरिया जैसे और वायरस जैसे कीटाणु नहीं फैलते थे आज जगह-जगह चाहे सरकारी हॉस्पिटल हो चाहे प्राइवेट डॉक्टर हो या झोलाछाप डॉक्टर हो किसी के यहां मरीजों की कमी नहीं है जिसका भी ब्लड ग्रुप चेक कराया जाता है उसको पैथोलॉजी के माध्यम से मलेरिया जैसे वायरस की शिकायत मरीज को अवगत कराई जाती है ।