यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

इटावा में रकम दोगुनी करने का झांसा देकर 12 लाख की ठगी


🗒 बुधवार, मार्च 10 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
इटावा में रकम दोगुनी करने का झांसा देकर 12 लाख की ठगी

इटावा,  सैफई थानाक्षेत्र के ग्राम अमरसीपुर निवासी आशुतोष ने आठ मार्च को धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया था। बताया कि औरैया के फंफूद निवासी उनके मौसेरे भाई प्रशांत कुमार और उसके दोस्त अवनीश कुमार चौधरी ने गुरुग्राम के थाना सेक्टर 15 के पटेल नगर निवासी सुजीत कुमार पुत्र सुरेश प्रसाद व हिमाचल प्रदेश के शिमला जिला अंतर्गत ननखड़ी तहसील अंतर्गत थैली चकटी निवासी राजीव शर्मा पुत्र मोहन शर्मा से मिलवाया था। उन दोनों को सुजीत व राजीव ने प्रलोभन दिया कि वे 16 लाख रुपये ट्िववटरी इन्फोटेक एजेंसी के दिल्ली स्थित आइसीआइसीआइ बैंक खाते में प्रॉसेस फीस के नाम पर ट्रांसफर कर दें तो उसके दो महीने बाद उनको 32 लाख रुपये शांति समाज समिति के माध्यम से मिल जाएंगे।आशुतोष ने बताया कि स्कीम पर विश्वास करके उन्होंने 15 फरवरी को भारतीय स्टेट बैंक सैफई से आरटीजीएस के माध्यम से ट््िववटरी इन्फोटेक के खाते में 10 लाख रुपये भेज दिए। मौसेरे भाई प्रशांत कुमार ने 16 फरवरी को अपने एकाउंट से दो लाख रुपये भेजे। बाकी चार लाख रुपये का चेक 16 फरवरी को दिया था, जो किसी कारणवश बैंक से डेबिट नहीं हो सका। इस पर गिरोह के अन्य सदस्य आगरा के न्यू शाहगंज के एलआइजी 71 निवासी एमसी गुप्ता ने कहा कि खाते में पांच लाख रुपये और जमा कराओ, क्योंकि चेक कैंसिल हो गया है। इसके बाद उसके सहायकों ने तीन मार्च को उनको फोन करके पांच लाख रुपये की मांग करते हुए रकम लेने इटावा आने की बात कही। इस बीच समझ आ गया कि उनके साथ ठगी हुई है। इस पर सुजीत, राजीव व एमसी गुप्ता के साथ गिरोह के मुंबई के जुहू स्थित होटल हयात निवासी सचिन, फर्रुखाबाद के रामा मार्ग स्थित शांति समाज समिति के सचिव मुरलीधर गौर व अन्य अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। एसएचओ वीरेंद्र बहादुर सिंह यादव ने बताया कि बुधवार को आशुतोष ने पुलिस को सूचना दी कि उनके साथ धोखाधड़ी करने वाले बकाया रकम लेने को सैफई बस स्टाफ पर खड़े हैं। इस पर आरोपित सुजीत कुमार व राजीव शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया। बाकी सदस्यों की तलाश के साथ गैंग से जुड़े लोगों का आपराधिक इतिहास देखा जा रहा है। गैंग का मुख्य सरगना आगरा निवासी एमसी गुप्ता है।  

इटावा से अन्य समाचार व लेख

» इटावा में चचेरी बहन की शादी में आए युवक की गला घोंटकर हत्या, दूसरे दिन कुएं के पास मिला शव

» इटावा में जमीन विवाद में युवक की सरिया से हमला कर हत्या

» इटावा में श्रद्धालुओं से भरी तेज रफ्तार डीसीएम सड़क किनारे खाई में गिरी, 12 लोगों की मौत, 44 घायल

» इटावा में प्रधान प्रत्याशी की बेटी ने प्रेमी संग खाया जहर, प्रेमिका ने उपचार के दौरान तोड़ दिया दम

» इटावा में भाजपा नेता समेत तीन भाइयों की आठ करोड़ की बेनामी संपत्ति जब्त

 

नवीन समाचार व लेख

» डीएम ने की उद्यमियों के संग वर्चुअल बैठक

» मतपत्रों में हुई हेराफेरी का शिकार बने प्रधान पद प्रत्याशी अधिकारियों की लापरवाही बनी प्रत्यासी की हार का सबब

» वृद्धाश्रम में वितरित हुआ भोजन और मास्क

» डीएम साहब! स्वच्छ भारत मिशन योजना पर पलीता लगा रहा सहायक एडीओ पंचायत

» दो दिन में आशा कार्यकर्ताओं ने 92,723 घरों का किया सर्वे