यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

इटावा में शोहदों से तंग आकर सगी बहनों ने मालगाड़ी से कटकर दी जान


🗒 मंगलवार, जून 01 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
इटावा में शोहदों से तंग आकर सगी बहनों ने मालगाड़ी से कटकर दी जान

इटावा,। दिल्ली-हावड़ा रेलमार्ग पर सोमवार की रात जनपद के गांव निवासी दो सगी बहनों ने आत्महत्या कर ली। बताया जाता है कि दोनों बहनें शोहदों से परेशान थीं और उनसे त्रस्त होकर उन्होंने फर्रुखाबाद रेलवे क्रासिंग के समीप मालगाड़ी से कटकर जान दे दी। स्थानीय लोगों के मुताबिक सोमवार रात गांव से करीब 25 किमी की दूरी तय करके दोनों बहनें रेलवे ट्रैक पर आईं थीं।जनपद के ही एक गांव निवासी घर में दोनों बहनें रहती थीं। एक कक्षा 11 और दूसरी कक्षा नौ की छात्रा थी। सोमवार को उनकी चचेरी बहन की विदाई होने के बाद पूरा परिवार सोने के लिए कमरे में चला गया। देर शाम करीब आठ बजे दोनों किशोरियां गांव से निकल गईं और खुदकुशी कर ली। सोमवार की रात्रि मालगाड़ी लोको पायलट ने मामले की जानकारी जीआरपी को दी थी। उसके बाद जीआरपी पुलिस द्वारा पुलिस को सूचना दी गई थी। हुलिया और उम्र के आधार पर पुलिस ने गांव पहुंचकर बेटियों की तलाश में जुटे उनके पिता को सूचित किया तब मंगलवार को वे स्वजन के साथ जीआरपी थाना पहुंचे। वहां से पोस्टमार्टम हाउस जाकर उन्होंने क्रमश: 11 और नौ वर्षीय बेटियों की शिनाख्त की।दिवंगत किशोरियों के स्वजन का कहना है दोनों बेटियों को पड़ोस स्थित गांव के दो युवक फाेन पर आए दिन परेशान किया कतरते थे। इसकी जानकारी होने पर उन युवकों के स्वजन से शिकायत की तो वे और ज्यादा परेशान करने लगे। इसके चलते बेटियों ने खुदकुशी कर ली। बीती रात मालगाड़ी की चपेट में आने से दो लड़कियों की मौत हो गई थी। उनके स्वजन ने उनकी पहचान सगी बहनों के रूप में की है। आधार कार्ड व अन्य प्रमाणपत्रों के आधार पर दोनों के शव उनके पिता को सौंप दिए गए हैं। अभी कोई तहरीर नहीं दी गई है। जिस थाने का मामला है वहीं से कार्रवाई होगी। - सुभाष तोमर, कार्यवाहक थाना प्रभारी जीआरपी