यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

तीर्थयात्रा पर निकले जीजा-साली के मिले कंकाल


🗒 सोमवार, अक्टूबर 04 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
तीर्थयात्रा पर निकले जीजा-साली के मिले कंकाल

इटावा, । जीजा-साली के घर लौटने की उम्मीद में स्वजन एक-एक दिन गिनते रहे और जब वे लापता होने के 27वें दिन मिले तो कंकाल के रूप में। कंकाल के पास से सल्फास की डिब्बी बरामद की गई है। इससे अंदेशा जताया जा रहा है कि दोनों ने सल्फास खाकर सामूहिक खुदकुशी कर ली थी। कंकाल की हालत से करीब 10 दिन पहले मौत को गले लगाने का अनुमान है। झाड़ियों से बरामद दोनों के शरीर को कीड़े-मकोड़े चुन चुके थे। उनकी शिनाख्त आधार कार्ड और कपड़ों से हो सकी।ग्वालियर बाईपास के समीप पड़राया वाले हनुमान मंदिर से करीब 500 मीटर की दूरी पर झाड़ियों से कंकाल सदर कोतवाली पुलिस द्वारा बरामद किए गए। बरामदगी से पहले मामला कुछ देर तक सदर कोतवाली और इकदिल थाने की सीमा विवाद में उलझा रहा था। मामले के मुताबिक इकदिल थाना क्षेत्र के ग्राम पृथ्वीपुर निवासी राम प्रकाश राठौर का 31 वर्षीय पुत्र सोनू राठौर करीब तीन वर्ष से अपनी ससुराल बसरेहर थाना क्षेत्र के ग्राम अकबरपुर में रह रहा था। वह बोरिंग मशीन का मिस्त्री था। साथ में पत्नी रजनी और तीन बच्चों में दो पुत्रियां पांच वर्ष की पलक, तीन वर्ष की नैना और करीब एक माह का पुत्र रह रहे थे। ससुराल में रहने के दौरान ही सोनू की साली ज्योति से निकटता बढ़ गई थी।सोनू और ज्योति आठ सितंबर को एक साथ अकबरपुर से लापता हो गए थे। इस पर ज्योति के पिता विजय सिंह और सूचना पर सोनू के भाई तलाशने की कोशिश करते रहे। दो दिन बाद दोनों ने फोन करके स्वजन को सूचना दी कि वे तीर्थयात्रा पर निकल गए हैं। इसके बाद 22 सितंबर को फोन करके बताया कि 25 सितंबर को घर आ जाएंगे। लेकिन वे नहीं लौटे। इस पर उनके इंतजार में स्वजन का एक-एक दिन भारी हो गया। दोनों के मोबाइल फोन बंद जाते रहे। लापता होने के 27वें दिन सोमवार को दोनों के कंकाल एक व्यक्ति द्वारा देखे गए। वह व्यक्ति झाड़ियों में ककोरा तोड़ने के मकसद से पहुंचा था। इसके बाद सदर कोतवाली और इकदिल थाना पुलिस को सूचना दी गई।कोतवाली प्रभारी निरीक्षक त्रिभुवन प्रसाद सिंह ने बताया कि कंकालों की हालत देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि सोनू और ज्याेति ने करीब 10-12 दिन पहले खुदकुशी की होगी। कंकाल के पास से सल्फास की डिब्बी और कपड़ों से भरा बैग मिला है।

इटावा से अन्य समाचार व लेख

» इटावा में फंदे पर बेटी का लटकता मिला शव

» चरित्र पर शक के चलते पत्नी काे उतारा मौत के घाट

» पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर समेत तीन काे किया गिरफ्तार

» मालगाड़ी के 24 वैगन गिरे, गिट्टी में दबकर बच्चे की मौत

» इटावा में बड़े भाई ने कुल्हाड़ी से काटकर छोटे को उतारा मौत के घाट