यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

दो युवकों की हत्या कर शव गड्ढे में फेंका


🗒 शुक्रवार, जून 24 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
दो युवकों की हत्या कर शव गड्ढे में फेंका

अयोध्या  -  अयोध्या में हैदरगंज थाना क्षेत्र के मनऊपुर गांव के पास शुक्रवार की सुबह दो अज्ञात युवकों का शव गड्ढे में पड़ा मिलने से हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों को बाहर निकलवाकर जांच-पड़ताल शुरू किया और सोशल मीडिया के जरिए शवों की शिनाख्त कराने की कोशिश किया। बाद में मृतकों की पहचान प्रतापगढ़ जनपद के लालगंज थाना क्षेत्र निवासी युवकों के रूप में हुई। पुलिस ने दोनों युवकों की हत्या कर शव यहां फेंकने की आशंका जताई है। मृतकों के शरीर पर चोट के निशान पाए गए हैं, पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारणों का पता चलने का दावा किया है। थाना क्षेत्र के मनऊपुर गांव के पास शुक्रवार की सुबह सड़क के किनारे गड्ढे में दो युवकों का शव देखा गया। ग्राम प्रधान की सूचना पर पहुंची हैदरगंज पुलिस ने शवों को बाहर निकलवाया और छानबीन शुरू किया। मौके पर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अतुल कुमार सोनकर, सीओ बीकापुर मनोज कुमार यादव भी कई थानों की पुलिस लेकर पहुंचे और स्थानीय लोगों से शवों की शिनाख्त कराने की कोशिश किया, लेकिन सफलता नहीं मिलने पर पुलिस ने मृतकों की फोटो आसपास के जिलों में वायरल कराया। सोशल मीडिया के जरिए सूचना मिलने पर कुछ देर बाद मृतकों की पहचान हुई। परिजनों को सूचित किया गया और दोपहर तक परिजन भी घटनास्थल पर पहुंच गए। शवों की शिनाख्त रवीकांत मोदनवाल (25) पुत्र रामकृष्ण निवासी साहबगंज बाजार, थाना लालगंज, जिला प्रतापगढ़ व मनोज कुमार मोदनवाल (32) पुत्र स्व. भगवान दास निवासी साहबगंज बाजार, थाना लालगंज, जिला प्रतापगढ़ के रूप में हुई है। परिजनों द्वारा शवों की पहचान करने के बाद पुलिस ने शवों को सील करके पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया है। हत्या के कारणों का पता लगाने के लिए प्रतापगढ़ जनपद की पुलिस से भी समन्वय स्थापित करके छानबीन की जा रही है। घटना के अनावरण के लिए कई टीमें लगाई गई हैं।युवकों के शरीर में चोट के निशान भी पाए गए हैं। एक युवक के कान से खून बहता हुआ मिला तो दूसरे युवक के पीठ पर भी चोट के निशान थे। पुलिस का मानना है कि युवकों की कहीं अन्यत्र हत्या करके शव को यहां फेंका गया है। पुलिस के अनुसार परिजनों से अब तक हुई पूछताछ में पता चला है कि मृतकों में से एक युवक प्रतापगढ़ में मिठाई की दुकान चलाता था। दोनों युवक आपस में मित्र बताए गए हैं। गुरुवार की सुबह करीब 08:30 बजे दुकान से वह लोग सुल्तानपुर जिले में दुकान का सामान लाने के लिए कहकर निकले थे। देररात तक वापस नहीं लौटे तो परिजनों ने खोजबीन शुरू किया। इधर, शुक्रवार की सुबह करीब दस बजे सोशल मीडिया के जरिए जानकारी हुई और फोटो की पहचान करके सभी लोग अयोध्या पहुंचे हैं। मृतकों के शरीर पर कोई गंभीर घाव तो नहीं मिले हैं, लेकिन चोट के कुछ निशान हैं। संभवत: युवकों को बाहर से लाकर यहां फेंक दिया गया है। फोरेंसिक टीमों के साथ कई टीमें जांच में लगाई गई हैं। परिजनों ने भी अभी किसी तरह की आशंका नहीं जताई है। पूछताछ की जा रही है। उम्मीद है कि शीघ्र ही मामले का खुलासा किया जाएगा। अतुल कुमार सोनकर, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण, अयोध्या

फैजाबाद से अन्य समाचार व लेख

» चोरी एवं जेबकतरी करने वाली सात महिला अपराधियों सहित आठ लोगों गिरफ्तार

» 15 जून को रामनगरी आएंगे आदित्य ठाकरे

» बदमाशों ने घर में घुसकर गर्भवती की धारदार हथियार से की हत्‍या

» सीएम योगी ने नुसूचित जाति की महिला बसंती के आवास पर किया भोजन

» वृद्ध क‍िसान पर ताबड़तोड़ फायर‍िंंग, बाइक सवार बदमाश फरार