यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

चाचा ने भतीजी को गोली मारकर उतारा मौत के घाट


🗒 शनिवार, जुलाई 23 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
चाचा ने भतीजी को गोली मारकर उतारा मौत के घाट

फर्रुखाबाद, । घर के दरवाजे पर खड़ी युवती को उसके ही चाचा ने ही तमंचे से गोली मार दी। गोली लगने से घायल युवती दूसरे चाचा के घर की ओर भागी तो कमरे में जा गिरी। खून से लथपथ युवती को उसके माता-पिता उसे लेकर लोहिया अस्पताल आए, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी।चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। आरोपित तमंचा लहराते हुए फरार हो गया। युवती के पिता ने पुलिस अधिकारियों को बताया उसका भाई उसकी बेटी की शादी अपनी मर्जी से कराना चाहता था। मना करने पर रंजिश मान रहा था।शनिवार सुबह मऊदरवाजा क्षेत्र के गांव तुर्कीपुर निवासी मो. इरफान की पत्नी शहनाज अपनी छोटी बेटी निदा को दवा दिलाने गांव चौरसिया मझोला गई थीं। मो. इरफान आम बेचने गांव में गए थे। घर पर उनकी बड़ी पुत्री 22 वर्षीय गुलअफ्शां अकेली थी। शहनाज कपड़ा सिलाई का काम करती हैं। गांव एक महिला अपने कपड़े लेने मो. इरफान के घर आई थीं। गुलअफ्शां उसे भेजने के बाद दरवाजे पर खड़ी थी।इसी दौरान उसका अविवाहित चाचा मुस्तकीम उर्फ गुड्डू वहां आया और गुलअफ्शां से विवाद करने लगा। गुलअफ्शां दरवाजे के सामने सड़क पर आ गई तभी मुस्तकीम ने उसके सीने में गोली मार दी। घायल गुलअफ्शां भागकर अपने दूसरे चाचा मो. इलियास के घर में घुस गई। हमलावर मुस्तकीम तमंचा लहराता हुआ मौके से फरार हो गया।गोली चलते ही आसपास के लोगों में अफरा-तफरी मच गई। लोगों ने तमंचा हाथ में पकड़े आरोपित को खेत की तरफ जाते हुए देखा, लेकिन उसे रोकने की हिम्मत नहीं जुटा सके। उधर गुलअफ्शां काफी देर तक कमरे में पड़ी तड़पती रही। माता-पिता के घर पहुंचने पर उसे लोहिया अस्पताल लाया गया। वहां डा. आकाश बंसल ने उसे मृत घोषित कर दिया।मो. इरफान ने अपने भाई मुस्तकीम के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। जिसमें उन्होंने कहा कि उनकी पुत्री गुलअफ्शां की शादी मुस्तकीम अपनी मर्जी से कराना चाहता था। उन्होंने मना कर दिया तो वह उनके परिवार से रंजिश मानने लगा था।अपर पुलिस अधीक्षक अजय प्रताप ने घटनास्थल का जायजा लेकर बताया कि युवती की हत्या चाचा ने की है। उसकी तलाश की जा रही है। प्रारंभिक रूप से पता चला है कि वह युवती की शादी अपनी मर्जी से कराना चाहता था। सीओ सिटी प्रदीप सिंह, मऊदरवाजा थाना प्रभारी आमोद कुमार सिंह ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया। फारेंसिक टीम ने भी साक्ष्य जुटाए।