यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्जी एसडीओ को पीटकर पुलिस को सौंपा


🗒 गुरुवार, जुलाई 28 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
फर्जी एसडीओ को पीटकर पुलिस को सौंपा

फर्रुखाबाद, । पिछले दो वर्ष से शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं से बिजली बिल कम कराने के नाम पर ठगी की जा रही थी। कई उपभोक्ताओं को जमा की फर्जी रसीदें थमा दी गईं। गुरुवार को एक युवक फर्जी एसडीओ बनकर कुइयाबूट स्थित एक उपभोक्ता के घर पहुंच गया और बिल दिखाते हुए उसे कम कराकर जमा कराने की बात कही।इस पर उपभोक्ता ने मामले की जानकारी बिजली विभाग के अधिकारियों व अपने साथियों को दी। आसपास के लोगों ने युवक को पकड़कर उसकी पिटाई कर दी और पुलिस को सौंप दिया। बिजली व पुलिस अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं।जनपद मैनपुरी शहर कोतवाली क्षेत्र के ज्योंती तिराहा निवासी मोहित राठौर उर्फ रिषभ उर्फ दीपक वर्ष 2020 में एक संस्था के माध्यम से मीटर लगाने का काम करता था। संस्था का काम समाप्त होने के बाद मोहित ने लोगों के साथ ठगी करना शुरू कर दिया। वर्ष 2021 में शहरी क्षेत्र के कई उपभोक्ताओं से लाखों रुपये लेकर जमा की फर्जी रसीदें थमा दीं। बिल कम न होने पर उपभोक्ताओं से अधिशासी अभियंता से शिकायत की तो पता चला कि रसीद फर्जी हैं।अधिशासी अभियंता ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। तब से फर्जीवाड़ा करने वाले लोगों की तलाश की जा रही थी। गुरुवार को मोहित कुइयाबूट निवासी बिजेंद्र राजपूत के घर पहुंच गया और अपने को बिजली विभाग का एसडीओ बताया। युवक ने उनका बिल दिखाते हुए कम करने का झांसा दिया और 15 हजार रुपये की मांग की। बिजेंद्र ने रुपये की व्यवस्था करने को कहा और फोन से मामले की जानकारी बिजली विभाग के उपखंड अधिकारी शरद प्रताप, रवि पांडेय व लिपिक अमित मिश्रा को दी।इसी बीच मौके पर भीड़ लग गई और लोगों ने युवक की पिटाई कर दी। तभी बिजली अधिकारी मौके पर पहुंच गए और पूछताछ की। एसओजी सिपाही अजीत और कादरीगेट चौकी इंचार्ज राजेश राय मौके पर पहुंचे और मोहित को मऊदरवाजा थाने भिजवा दिया। थानाध्यक्ष आमोद कुमार सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।ठगी के शिकार लोगों ने पहचानामोहल्ला नरकसा निवासी रामबेटी ने बताया कि उनका 28 हजार रुपये बिल था। मोहित ने अपना नाम रिषभ बताया और कहा कि वह बिजली विभाग का अधिकारी है, उसका बिल कम कर देगा। उन्होंने 17 हजार रुपये दे दिए। उसकी फर्जी रसीदें दे दी गईं, जो उसके पास हैं। मोहल्ला नखास निवासी राशिद ने 15 हजार व घेर शामू खां निवासी कामिल ने 20 हजार रुपये बिल कम करने के नाम पर युवक द्वारा ठगे जाने की जानकारी दी। इन लोगों को भी फर्जी रसीदें दी गईं।युवक के पास मिले दस्तावेज पकड़े गए मोहित के पास एक फाइल थी। जिसमें मीटर के सीलिंग प्रमाण पत्र मौजूद थे। इसके अलावा उसके पास कई उपभोक्ताओं के बिजली बिल भी बरामद हुए। उसके मोबाइल फोन में कई बिल व अन्य विवरण पाया गया। मोहित ने बताया कि वह वर्ष 2021 से फर्रुखाबाद में आ रहा है और कई लोगों से उसने बिल ठीक करने के नाम पर रुपये लिए हैं।

फर्रूखाबाद से अन्य समाचार व लेख

» छात्रों के दो गुटों में विवाद, पुलिस से अभद्रता कर लहराए तमंचे

» दूसरे की जगह परीक्षा देते धरे गए तीन फर्जी परीक्षार्थी

» चाचा ने भतीजी को गोली मारकर उतारा मौत के घाट

» मुठभेड़ में बदमाश के पैर में गोली लगने से घायल

» युवक व किशोर सहित आठ लोग गंगा में डूबे

 

नवीन समाचार व लेख

» बालिका वधू बनने से बचीं दस नाबालिग बेटियां, , निकाह रुकवाया

» फरियादियों के सामने भिड़ गए थानेदार व दरोगा, खूब हुई गाली-गलौच

» मिनी ट्रक की टक्कर से बाइक सवार चाचा-भतीजे की मौत

» पूर्व ब्लाक प्रमुख के घर फर्जी क्राइम ब्रांच की टीम का छापा,पकड़े गए नकली CO, दारोगा और सिपाही

» ट्रक की टक्कर से बाइक सवार तीन की दर्दनाक मौत