यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जनपद फर्रुखाबाद में पुलिस की पिटाई से युवक की मौत, थानाध्यक्ष समेत सात पर हत्या का मुकदमा


🗒 सोमवार, मई 28 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
जनपद फर्रुखाबाद में पुलिस की पिटाई से युवक की मौत, थानाध्यक्ष समेत सात पर हत्या का मुकदमा

पुलिस हिरासत में जीप से कुचलकर जान गंवाने वाले ग्रामीण के भाई ने पीटकर हत्या किए जाने के आरोप में मेरापुर थानाध्यक्ष, अचरा चौकी प्रभारी व पांच सिपाहियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। थाने में तहरीर पहुंचते ही आरोपित पुलिसकर्मी भूमिगत हो गए। सोमवार को पूरा दिन थाना छावनी में तब्दील रहा।

मेरापुर थाना पुलिस की हिरासत में कई दिनों से बैठे जिला एटा कोतवाली अलीगंज के गांव गंजी नगला निवासी विजेंद्र सिंह की रविवार दोपहर जीप से कुचलकर मौत हो गई थी। घटना के समय विजेंद्र को अचरा चौकी प्रभारी शीलेश गौतम अपनी कार से ले जा रहे थे। विजेंद्र ने लघुशंका जाने के बहाने कार रुकवाई और नीचे उतरकर भागने का प्रयास किया, तभी अचानक जीप ने कुचल दिया।

उनके छोटे भाई रवींद्र सिंह यादव ने देर रात मेरापुर थाने में थानाध्यक्ष देवेंद्र कुमार गंगवार, चौकी प्रभारी शीलेश गौतम व पांच अज्ञात सिपाहियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। रवींद्र की ओर से दर्ज कराई गई रिपोर्ट के अनुसार 20 मई को वह अपने बड़े भाई विजेंद्र के साथ एक पंचायत में गांव गनेशपुर आए थे। वहां एसओ व चौकी प्रभारी पांच सिपाहियों के साथ मौके पर पहुंचे और गनेशपुर निवासी लोकेश के कहने पर विजेंद्र को मारपीट कर जबरन जीप में डाल लिया और थाने लाकर बंद कर दिया। पुलिसकर्मियों ने उन्हें थर्ड डिग्री देकर प्रताडि़त किया। वह परिवारीजन के साथ कई बार थाने आए पर भाई को नहीं छोड़ा गया।

26 मई को सुबह वह थाने गए तो विजेंद्र ने कहा कि उसे बचा लो। थानाध्यक्ष, चौकी प्रभारी व अन्य पुलिस कर्मी रात में उन्हें पीटते हैं। उन्होंने इस संबंध में थानाध्यक्ष से कहा तो उन्हें भगा दिया। 27 मई को प्रधान बलवीर सिंह ने उन्हें सूचना दी कि विजेंद्र की मौत हो गई है। उसका शव थाने में रखा है। वह थाने पहुंचे तो पता चला कि शव पोस्टमार्टम के लिए गया है। उनके भाई की हत्या आरोपित पुलिस कर्मियों ने की है। मुकदमे की विवेचना सीओ कायमगंज नरेश कुमार को सौंपी गई है।

एएसपी त्रिभुवन सिंह ने बताया कि हत्या में आरोपित थाना प्रभारी देवेंद्र कुमार व चौकी प्रभारी को अभी निलंबित नहीं किया गया है, जांच की जा रही है। साक्ष्य के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। थाने का चार्ज फिलहाल संकिसा चौकी प्रभारी छैल बिहारी शर्मा देख रहे हैं। कार्यवाहक थाना प्रभारी ने बताया कि थानाध्यक्ष व चौकी प्रभारी कहां हैं, यह जानकारी उन्हें नहीं है। दीवान रामसिंह ने बताया कि एसओ व चौकी प्रभारी की सर्विस रिवाल्वर जमा है। सीयूजी कार्यवाहक थानाध्यक्ष के पास है। दोनों की रवानगी हास्पिटल के लिए हुई है। 

फर्रूखाबाद से अन्य समाचार व लेख

» फर्रुखाबाद में संपत्ति हथियाने को लेकर चाचा ने कर दी मासूम की हत्या

» फर्रुखाबाद मे 25 हजार के इनामी लुटेरे को पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान किया ढेर

» फेसबुक पर हुआ प्यार और प्रेमिका आ गई प्रेमी के द्वार

» फर्रुखाबाद मे चेकिंग के दौरान नहीं रोकी बाइक तो सिपाही ने मार दिया हेलमेट, छात्र को तड़पता देख मौके से भागे

» फर्रुखाबाद मे रिटायर्ड सैन्य कर्मी की बेटी की खुदकशी पीछे छोड़ गई कई सवाल, मंगेतर ने तोड़ दी थी शादी