फर्रुखाबाद में बिजली विभाग के स्टोर में नकाबपोश बदमाशों ने बोला धावा, गार्ड को बंधक बना लूट ले गए लाखों का माल

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्रुखाबाद में बिजली विभाग के स्टोर में नकाबपोश बदमाशों ने बोला धावा, गार्ड को बंधक बना लूट ले गए लाखों का माल


🗒 शुक्रवार, मार्च 13 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
फर्रुखाबाद में बिजली विभाग के स्टोर में नकाबपोश बदमाशों ने बोला धावा, गार्ड को बंधक बना लूट ले गए लाखों का माल

नकाबपोश बदमाशों ने बिजली विभाग के स्टोर में धावा बोलकर गार्ड को बंधक बना पहले जमकर पीटा। इसके बाद उसकी दोनाली बंदूक व मोबाइल छीनकर मुंह में कपड़ा ठूस उसे कमरे में बंद कर दिया। बदमाश स्टोर के तीन गोदामों के ताले तोड़कर कीमती तांबे का तार और 22 बैटरी के साथ ही गार्ड की बंदूक भी ले गए। लूटे गए माल की कीमत लाखों में बताई जा रही है।फतेहगढ़ कोतवाली क्षेत्र के बेवर रोड स्थिति बिजली विभाग के स्टोर में मोहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के गांव अहिमलापुर निवासी पूर्व सैनिक विजेंद्र सिंह सुरक्षा गार्ड हैं। उनकी रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक ड्यूटी रहती है। गुरुवार रात कई नकाबपोश बदमाश बाउंड्री फांदकर स्टोर में घुस गए और मुख्य गेट पर तैनात गार्ड विजेंद्र को बंधक बनाकर पीटने लगे। उसके हाथ पैर बांध मुंह में कपड़ा ठूस कर कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद बदमाशों ने तीन गोदामों के ताले काटे और लाखों का मॉल व गार्ड की बंदूक लूट ले गए। शुक्रवार तड़के गार्ड ने किसी तरह अपने हाथ पैर खोले और घटना की सूचना उपखंड अधिकारी स्टोर पंकज कुमार, जेई विमल सागर को दी। इसके बाद पुलिस अधीक्षक डॉ. अनिल कुमार मिश्रा, अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन सिंह, सीओ सिटी मन्नीलाल गौड़, प्रभारी कोतवाल जितेंद्र चौधरी, एसओजी प्रभारी दिनेश गौतम पहुंचे। फील्ड यूनिट टीम ने साक्ष्य जुटाए और डॉग स्क्वाड को बुलाया गया। बिजली विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बदमाश लाखों रुपये कीमत का तांबे का तार, बैटरी आदि सामान ले गए हैं। एसपी ने बताया कि एसओजी टीम को लगाया गया है। शीघ्र ही घटना का पर्दाफाश किया जाएगा।स्टोर कार्यालय व परिसर में निगरानी करने को सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। बदमाशों ने सबसे पहले स्टोर कार्यालय में लगे सीसीटीवी कैमरे को निशाना बनाया, ताकि वह कैमरे में कैद न हो सकें। नकाबपोश बदमाशों ने डीबीआर निकालने का प्रयास किया, जब वह सफल नहीं हुए तो उसे उखाड़ ले गए।स्टोर कार्यालय के निकट वर्कशाप है। इसकी दीवार पर दो सीसीटीवी लगे हुए हैं। बदमाशों ने एक कैमरे को डंडे से मोड़ दिया। ताकि वह उसकी निगरानी में न आ सकें, लेकिन दूसरा कैमरा काफी ऊंचाई पर लगे होने के कारण वे उस तक नहीं पहुंच सके। इसमें दो बदमाश कैद हुए हैं। कैमरे का फुटेज रात 11.58 का है। माना जा रहा है कि बदमाश करीब 11 बजे के आसपास परिसर में दाखिल हुए।11 वर्षों से तैनात सुरक्षा गार्ड विजेंद्र सिंह ने बताया कि मच्छर की वजह से वह चादर ओढ़कर मुख्य गेट पर बनी केबिन में बैठे थे। इसी बीच पीछे से नकाबपोश आठ बदमाशों ने उसे दबोच लिया। सभी के पास डंडे और असलहे थे। सिर उठाने पर वह डंडा मारते थे। इसके बाद उसे बंधक बनाकर कमरे में डाल दिया और एक बदमाश वहीं मौजूद रहा। वह लगातार कॉपर तार के बारे में पूछते रहे।स्टोर के उपखंड अधिकारी पंकज कुमार ने बताया कि बदमाश ढाई क्विंटल से अधिक तांबे का तार, 22 बैटरी ले गए हैं। अभिलेखों से मिलान के बाद ही विद्युत सामग्री गायब होने के बारे में पता चल सकेगा। 

फर्रूखाबाद से अन्य समाचार व लेख

» फर्रुखाबाद में भतीजे की हत्या के बाद शव जलाकर दफनाया

» फर्रुखाबाद मे सट्टेबाजी की सूचना पर छापेमारी करने पहुंची पुलिस तो युवक ने आत्मदाह का किया प्रयास

» फर्रुखाबाद में संपत्ति हथियाने को लेकर चाचा ने कर दी मासूम की हत्या

» फर्रुखाबाद मे 25 हजार के इनामी लुटेरे को पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान किया ढेर

» फेसबुक पर हुआ प्यार और प्रेमिका आ गई प्रेमी के द्वार