यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्रुखाबाद में हत्या में पति पहुंचा सलाखों के पीछे, जिंदा लौटी पत्नी


🗒 शनिवार, सितंबर 05 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
फर्रुखाबाद में हत्या में पति पहुंचा सलाखों के पीछे, जिंदा लौटी पत्नी

जिस पत्नी की हत्या के आरोप में पति को पुलिस ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया था, वह जब जिंदा लौट आई तो लोग सन्न रह गए। मकान के कमरे में खून सना देखकर मायके वालों ने हत्या कर शव छिपाने का मुकदमा दर्ज कराया था और मासूम बेटे ने भी पापा द्वारा मम्मी को चाकू से मारने की जानकारी दी थी। इसपर पुलिस ने पति को गिरफ्तार कर लिया था। शुक्रवार की रात अल्लागंज पुलिस ने महिला के जिंदा मिलने की जानकारी मायके वालों को दी तो सभी आश्चर्य में पड़ गए।नवाबगंज थाना क्षेत्र के गांव वीरपुर निवासी रणविजय सिंह की शादी मोहम्मदाबाद के सिकंदरपुर बरा निवासी लता से हुई थी, उसे पांच साल का बेटा रुद्र भी है। गुरुवार की रात लता रहस्मय ढंग से लापता हो गई थी। मायके से आए पिता विनोद सिंह ने कमरे और बरामदे में खून पड़ा देखकर बेटी की हत्या कर शव छिपाने का आरोप लगाया था। पुलिस ने आराेपित पति रणविजय को गिरफ्तार करके हत्या के बाद शव छिपाने का मुकदमा दर्ज किया था। पूछताछ में रणविजय ने खुद को बेकसूर बताते हुए लता के बारे में कुछ पता न होने की बात कही थी लेकिन पुलिस ने उसे जेल भेज दिया था।शुक्रवार की देर रात अल्लागंज थाना पुलिस ने विनोद सिंह को फोन करके लता के जिंदा मिलने की जानकारी तो सभी आश्चर्य में पड़ गए। इसके बाद नवाबगंज थानाध्यक्ष राकेश कुमार शर्मा और एसओजी प्रभारी रामबाबू सिंह मौके पर पहुंचे। पूछताछ में लता ने बताया कि रात में घर में आए चार लोग उसे बेहोश करने के बाद एक गाड़ी में डालकर ले गए थे। इसके बाद अल्लागंज के पास एक पेट्रोल पंप किनारे फेंककर चले गए। हालांकि लता के शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं मिले हैं, जिससे पुलिस को उसकी बातों पर संदेह हो रहा है। पुलिस ने लता को पिता के सुपुर्द कर दिया है।कमरे से लता के गायब होने और खून मिलने पर हत्या की आशंका जताई जा रही थी। लता के जिंदा मिलने पर पुलिस में अब कमरे में खून किसका था, यह पता लगाने में जुट गई है। थानाध्यक्ष राकेश शर्मा ने बताया कि लता से कमरे में मिले खून के बारे में पूछताछ करने के बाद ही पूरा मामला स्पष्ट हो सकेगा।लता के गायब होने पर पुलिस ने पांच वर्षीय पुत्र रुद्र प्रताप से पूछताछ की थी। रुद्र ने पुलिस को बताया था कि पापा ने मम्मी को चाकू से मारा है। उसके बयान से पुलिस को पुख्ता हो गया था कि पति ने ही उसकी हत्या करके शव छिपाया है लेकिन लता के जिंदा वापस आने के बाद कई सवाल खड़े हो गए हैं। बच्चे ने झूठा बयान क्यों दिया पुलिस यह भी पता लगाने का प्रयास कर रही है। आखिर किसके कहने पर बच्चे ने झूठ बोला, पुलिस पता लगा रही है।

फर्रूखाबाद से अन्य समाचार व लेख

» फर्रुखाबाद में भतीजे की हत्या के बाद शव जलाकर दफनाया

» फर्रुखाबाद मे सट्टेबाजी की सूचना पर छापेमारी करने पहुंची पुलिस तो युवक ने आत्मदाह का किया प्रयास

» फर्रुखाबाद में संपत्ति हथियाने को लेकर चाचा ने कर दी मासूम की हत्या

» फर्रुखाबाद मे 25 हजार के इनामी लुटेरे को पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान किया ढेर

» फेसबुक पर हुआ प्यार और प्रेमिका आ गई प्रेमी के द्वार