यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्रुखाबाद में भतीजे की हत्या के बाद शव जलाकर दफनाया


🗒 गुरुवार, अक्टूबर 01 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
फर्रुखाबाद में भतीजे की हत्या के बाद शव जलाकर दफनाया

जनपद कन्नौज की कोतवाली तिर्वा के मलिहापुर गांव निवासी ईश्वर दयाल उर्फ अजय श्रीवास्तव की हत्या कर दी गई थी। इस घटना में अजय की पत्नी राधा और सास गीता देवी जेल चली गईं। अजय का छह वर्षीय पुत्र सुमित श्रीवास्तव और दस वर्षीय पुत्री सौम्या थाना तालग्राम के गांव अमोलर स्थित अपने ननिहाल चले गए। एक माह पूर्व कोतवाली क्षेत्र के गांव खिमसेपुर निवासी मौसा संतोष श्रीवास्तव सुमित व सौम्या को अपने घर ले आए। गुरुवार को जब सुमित घर के बाहर नहीं निकला तो आसपास के लोगों को शक हुआ। प्रधान तारावती के पुत्र महेंद्र सिंह ने अनहोनी जताते हुए पुलिस को सूचना दी। प्रभारी निरीक्षक राकेश कुमार मौके पर पहुंचे। उन्होंने सुमित की मौसी कीर्ति को हिरासत में लिया तो उसने घटना के बारे में बताया। पुलिस ने कीर्ति की निशानदेही पर गांव में स्थित कब्रिस्तान से सुमित का अधजला शव बरामद किया। पुलिस कीर्ति को कोतवाली ले गई। देर रात पुलिस ने आरोपित मौसा संतोष को भी पकड़ लिया। सुमित की बहन सौम्या ने बताया कि बुधवार सुबह वह अपनी मौसेरी बहन शोभा के साथ बाहर गई थी। जब वह लौटकर आई तो घर पर सुमित नहीं मिला। तब उसने मौसा को खुरपी लेकर कब्रिस्तान में जाते देखा। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि संतोष और कीर्ति को हिरासत में लेकर पूछताछ की जाएगी।कीर्ति ने पुलिस को बताया कि सुमित को मिर्गी के दौरे पड़ते थे। वह शौच भी कर लेता था और उसे जानकारी नहीं हो पाती थी। इस पर उसने सुमित के सिर में डंडा मार दिया। जिससे वह बेहोश हो गया। पति के साथ वह सुमित को लेकर जा रही थी, लेकिन पति ने सुमित को कब्रिस्तान में दफना दिया।

फर्रूखाबाद से अन्य समाचार व लेख

» फर्रुखाबाद मे सट्टेबाजी की सूचना पर छापेमारी करने पहुंची पुलिस तो युवक ने आत्मदाह का किया प्रयास

» फर्रुखाबाद में संपत्ति हथियाने को लेकर चाचा ने कर दी मासूम की हत्या

» फर्रुखाबाद मे 25 हजार के इनामी लुटेरे को पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान किया ढेर

» फेसबुक पर हुआ प्यार और प्रेमिका आ गई प्रेमी के द्वार

» फर्रुखाबाद मे चेकिंग के दौरान नहीं रोकी बाइक तो सिपाही ने मार दिया हेलमेट, छात्र को तड़पता देख मौके से भागे