बाहुबली पूर्व सांसद फतेहगढ़ सेंट्रल जेल शिफ्ट, खुद को बताया राजनीतिक साजिशों का शिकार

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बाहुबली पूर्व सांसद फतेहगढ़ सेंट्रल जेल शिफ्ट, खुद को बताया राजनीतिक साजिशों का शिकार


🗒 गुरुवार, मार्च 11 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
बाहुबली पूर्व सांसद फतेहगढ़ सेंट्रल जेल शिफ्ट, खुद को बताया राजनीतिक साजिशों का शिकार

फर्रुखाबाद,। पूर्व सांसद धनंजय सिंह को सुरक्षा की दृष्टि से प्रयागराज की नैनी जेल से फतेहगढ़ जेल स्थानांतरित कर दिया गया। गुरुवार को यहां लाए गए पूर्व सांसद की सुरक्षा में पुलिस के साथ निजी सुरक्षाकर्मी भी थे। पुलिस के वज्र वाहन के पीछे-पीछे चल रहे निजी वाहनों के काफिले के साथ निजी सुरक्षा कर्मियों के दस्ते की मुस्तैदी और चहलकदमी देखकर जेल प्रशासन हलकान नजर आया। वाहनों से सामान उतरने में देरी के चलते लगभग 15 मिनट तक धनंजय ङ्क्षसह जेल गेट पर इंतजार करते रहे। लखनऊ में अजीत सिंह हत्याकांड में नाम आने और 25 हजार रुपये का इनामी घोषित किए जाने के बाद पूर्व सांसद ने पुराने मामले में जमानत कटवाकर आत्मसमर्पण किया था। नैनी जेल में माफिया मुख्तार अंसारी और अभय ङ्क्षसह के कई गुर्गों के भी बंद होने के चलते धनंजय सिंह की सुरक्षा को खतरा माना जा रहा था। खुद पूर्व सांसद ने भी सुरक्षा को लेकर आशंका जताई थी। इसी के बाद नैनी जेल प्रशासन की गोपनीय रिपोर्ट के आधार पर पूर्व सांसद को फतेहगढ़ केंद्रीय कारागार में स्थानांतरित करने का निर्णय लिया गया। गुरुवार शाम करीब 6.50 बजे पुलिस का वज्र वाहन उन्हें लेकर सेंट्रल जेल पहुंचा तो उसके पीछे लग्जरी वाहनों का एक लंबा काफिला भी साथ था। वज्र वाहन से पूर्व सांसद के उतरते ही वाहनों से उनके समर्थक व निजी अंगरक्षक  भी उतरे। जेल प्रशासन के अधिकारी और पुलिस बल पहले से ही सेंट्रल जेल गेट पर मौजूद था। पूर्व सांसद ने उतरने के बाद अपने सामान के बारे में पूछा तो पुलिसकर्मी बगले झांकने लगे। इस पर वरिष्ठ अधीक्षक ने फतेहगढ़ कोतवाल से सामान मंगवाने को कहा। धनंजय ङ्क्षसह लगभग 15 मिनट तक जेल गेट पर ही खड़े रहे। फतेहगढ़ जेल में पूर्व सांसद को हाई-सिक्योरिटी बैरक संख्या दो में रखा गया है। बागपत जिला जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या की साजिश का भी आरोप धनंजय पर लग चुका है। मुन्ना बजरंगी का हत्यारोपित सुनील राठी भी इसी सेंट्रल जेल में एक माह तक निरुद्ध रह चुका है। सुनील राठी को भी यहां हाई-सिक्योरिटी बैरक में ही रखा गया था। पूर्वांचल का चर्चित बाहुबली सुभाष ठाकुर भी इसी जेल में ही निरुद्ध है, हालांकि वर्तमान में इलाज के लिए वाराणसी अस्पताल में हैं। सेंट्रल जेल गेट पर पत्रकारों से वार्ता के दौरान बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने खुद को राजनीतिक साजिशों का शिकार बताया। उन्होंने कहा कि उन्हें न्याय पालिका पर पूरा भरोसा है। यह समय जल्द बदलेगा।बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय ङ्क्षसह ने खुद को बेगुनाह बताया। उन्होंने कहा कि राजनीतिक साजिश और कुछ अधिकारियों की मिलीभगत के चलते उनके खिलाफ झूठे मामले बनाए गए हैं। अब मामला न्यायालय में है और उन्हें कोर्ट पर पूरा भरोसा है। शीघ्र ही दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। उन्होंने कहा कि यह सब ज्यादा दिन नहीं चलेगा और समय शीघ्र बदलेगा। पूर्व सांसद ने माना कि उन्होंने अपनी सुरक्षा के संबंध में न्यायालय में प्रार्थना पत्र दिया था।

फर्रूखाबाद से अन्य समाचार व लेख

» फर्रुखाबाद मे नशीली कोल्ड ड्रिंक पिलाकर तीन युवकों ने लूट ली किशोरी की अस्मत

» फर्रुखाबाद में मां के डांटने पर युवक ने खुदकुशी की

» फर्रुखाबाद में बिना ऑक्सीजन मरीज को तड़पता देख डॉक्टर को पीटा, जान बचाकर कोतवाली पहुंचे स्वास्थ्य कर्मी

» फर्रुखाबाद के नर्सिंग होम में लूटपाट व मारपीट करने पर दो भाइयों को जेल

» फर्रुखाबाद में नर्सिंगहोम कर्मियों ने शव ले जा रहे स्वजन को घेरा, मारपीट व फायरिंग, सिपाही से हाथापाई

 

नवीन समाचार व लेख

» बिजनौर मे पैसों को लेकर कहासुनी, दावत के दौरान युवक की पीट-पीटकर हत्या

» लखनऊ में किशोरी से सरेआम छेड़छाड़ के बाद दो पक्षों में संघर्ष, जमकर हुआ पथराव; दारोगा चोटिल

» लोगों को मास्क पहनने के लिए करना होगा मजबूर - सीएम योगी

» गांवों में कोरोना रोकने के लिए सरकार की नई गाइडलाइंस जारी

» बहराइच में गर्भवती पर बनाया देह व्यापार का दबाव, इन्कार पर लाठी डंडों से पीटा; नवजात की मौत