फर्रुखाबाद में नर्सिंगहोम कर्मियों ने शव ले जा रहे स्वजन को घेरा, मारपीट व फायरिंग, सिपाही से हाथापाई

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्रुखाबाद में नर्सिंगहोम कर्मियों ने शव ले जा रहे स्वजन को घेरा, मारपीट व फायरिंग, सिपाही से हाथापाई


🗒 मंगलवार, अप्रैल 27 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
फर्रुखाबाद में नर्सिंगहोम कर्मियों ने शव ले जा रहे स्वजन को घेरा, मारपीट व फायरिंग, सिपाही से हाथापाई

फर्रुखाबाद,। नर्सिंग होम में बीमार वृद्ध की मौत होने के बाद शव लेकर जा रहे स्वजन और साथ आए लोगों को घेरकर कर्मचारियों ने मारपीट की। बीच-बचाव करने आए सिपाही से भी हाथापाई की गई। इस दौरान फायरिंग भी की गई, जिससे बाजार बंद हो गया। इसके पहले स्वजन ने ऑक्सीजन नहीं मिलने का आरोप लगा अस्पताल में कर्मचारियों से मारपीट करते हुए तोडफ़ोड़ की थी। कर्मचारी इसी बात से आक्रोशित थे। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर लूटपाट का आरोप लगाया है। हालांकि पुलिस लूटपाट से इन्कार कर रही है।नवाबगंज थाना क्षेत्र के गांव मिल्क सुल्तानपुर निवासी 60 वर्षीय शेर सिंह यादव को सांस लेने में दिक्कत पर स्वजन ने उनको मंगलवार सुबह 10:30 बजे शहर के आवास विकास कालोनी स्थित माडर्न नर्सिंग होम में भर्ती कराया। यहां उनकी मौत हो गई। गुस्साए स्वजन ने ऑक्सीजन नहीं मिलने का आरोप लगा कर्मचारियों से मारपीट कर काउंटर तोड़ दिया। इसके बाद शव लेकर चले गए। मऊदरवाजा थाना क्षेत्र के पश्चिम रेलवे क्रॉसिंग और जसमई दरवाजा मार्ग पर स्थित धर्मशाला के पास नर्सिंग होम कर्मचारियों ने वाहनों से आकर शव लेकर जा रहे स्वजन को रोक लिया।यहां दोनों पक्षों में लाठी-डंडे चलने से कई लोग घायल हो गए। वहां मौजूद सिपाही सुमित देशवाल के साथ भी हाथापाई की गई। इसी दौरान किसी ने फायरिंग कर दी, तो दहशत के चलते दुकान बंदकर दुकानदार भाग गए। थाना प्रभारी जयप्रकाश शर्मा व बजरिया चौकी प्रभारी सुनील कुमार मौके पर पहुंचे। दिवंगत के पुत्र रामलखन ने बताया कि आरोपितों ने उनसे व भाई जसवीर, चचेरे भाई अनिल, रामवक्श, दुर्वीन सिंह, पवन आदि से मारपीट की। हमलावर उनके बहनोई वीपी सिंह को पकड़ ले गए और डेढ़ लाख रुपये और बाइक छीनकर छोड़ दिया। पुलिस ने घटनास्थल से लग्जरी कार मिली है, जिसे वह वाहन थाने ले गई।मारपीट के बाद स्वजन ने सड़क पर शव रख जाम लगाने की कोशिश की। पुलिस ने किसी तरह शांत कराया और शव वाहन में रखवाकर गांव भिजवा दिया।नर्सिंग होम के संचालक सौरभ चौहान ने बताया कि ऑक्सीजन न होने पर वृद्ध को भर्ती करने से मना कर दिया गया था। वृद्ध की मौत होने पर स्वजन ने कर्मचारी सोनू, वार्ड ब्वॉय रमन व रंजीत की पिटाई कर दी और तोडफ़ोड़ करने लगे। काउंटर से 1.80 लाख रुपये छीन ले गए। ऑक्सीजन सिलिंडर ले जाने का भी प्रयास किया। वह अपने रुपये लेने वाहन से जसमई दरवाजा के पास पहुंचे तो वहां आरोपितों ने सरैया गांव के निवर्तमान प्रधान उनके भाई शनि चौहान का डंडे से सिर फोड़ दिया।दो पक्षों में मारपीट हुई है। नर्सिंग होम से मृतक के स्वजन नकदी छीन ले गए थे, जिस पर कर्मचारी रुपये लेने गए थे। लूटपाट का आरोप गलत है, फिर भी जांच की जा रही है।डॉ. जयप्रकाश शर्मा, थाना प्रभारी मऊदरवाजा

फर्रूखाबाद से अन्य समाचार व लेख

» फर्रुखाबाद में घर के बाहर सो रहे भट्ठा मालिक को गोलियों से भूना

» फर्रुखाबाद व इटावा में पुलिस ने पकड़ा 610 किलो गांजा, 10 तस्करों गिरफ्तार

» फर्रुखाबाद में नेत्र चिकित्सक की हत्या का मास्टर मांइड चेन्नई से गिरफ्तार

» लापरवाह ANM ने महिला को दी वैक्सीन की डबल डोज

» फर्रुखाबाद में कच्छा-बनियान गैंग के आठ बदमाशों को पुलिस ने दबोचा