यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्रुखाबाद व इटावा में पुलिस ने पकड़ा 610 किलो गांजा, 10 तस्करों गिरफ्तार


🗒 शुक्रवार, जून 11 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
फर्रुखाबाद व इटावा में पुलिस ने पकड़ा 610 किलो गांजा, 10 तस्करों गिरफ्तार

फर्रुखाबाद/इटावा, । इटावा और फर्रुखाबाद में पुलिस ने शुक्रवार रात चेकिंग के दौरान ओडिशा से लाई गई गांजे की खेप के साथ 10 तस्करों को दबोचा। इटावा में पीछा करने पर तस्करों ने पुलिस पर फायर भी किया। पुलिस ने सात तस्करों के साथ 510 किलो गांजा पकड़ा। फर्रुखाबाद में चार तस्करों के साथ एक क्विंटल गांजा पकड़ा गया। एसएसपी इटावा डा. बृजेश कुमार सिंह ने बताया कि कोतवाली क्षेत्र में टिक्सी मंदिर के पास क्राइम ब्रांच व कोतवाली पुलिस की संयुक्त टीम चेकिंग कर रही थी तभी एक डीसीएम व नीले रंग की अर्टिगा कार आती दिखाई दी। रोकने पर वाहनों की रफ्तार तेज हो गई। तब पुलिस ने पीछा किया और दो राउंड फायरिंग भी की। पुलिस से घिरा देखकर अर्टिगा में सवार लोगों ने भी पुलिस पर फायर किया। पुलिस ने घेरकर छह लोगों को दो तमंचों व गांजे से भरे 17 प्लास्टिक के बैगों के साथ गिरफ्तार किया। आरोपित गांजा मथुरा, एटा, मैनपुरी जनपदों में सप्लाई करते थे। आरोपितों में अमित निवासी गाड़ीपुरा इटावा, रविंद्र कुमार निवासी खिरारी, मनवीर निवासी तम्बगा, दिनेश कुमार निवासी अनौरा (थाना राया, मथुरा) रमाकांत निवासी सीहोरा थाना जमुनापार जिला मथुरा, पवन निवासी भद्रबल थाना मांट, मथुरा शामिल हैं। मौके पर पकड़ी डीसीएम पर आरोपितों ने डाक पार्सल लिख रखा था ताकि पुलिस को गुमराह कर बचकर निकला जा सके। आरोपितों ने बताया कि कार से रास्ते में रेकी करते थे और उसके बाद डीसीएम को ले जाते थे। डीसीएम में डाक पार्सल की तरह पैक कर गांजा के पैकेट रखे हुए थे। एसएसपी ने टीम को 25 हजार का इनाम देने की घोषणा की है। एसपी फर्रुखाबाद अशोक कुमार मीणा ने बताया कि एसओजी प्रभारी जयप्रकाश शर्मा और राजेपुर थाना प्रभारी देवेश कुमार ने मुखबिर की सूचना पर वाहन चेकिंग के दौरान घेराबंदी कर एक स्कार्पियो को रोका। तलाशी में बैग से एक क्विंटल गांजा बरामद हुआ। मोहम्मदाबाद क्षेत्र के गांव नंदसा निवासी अखंड प्रताप सिंह उर्फ लला, उसका भाई कृष्ण प्रताप सिंह, नगला पंचम निवासी अजीत यादव और कन्नौज के गुरसहायगंज थाना क्षेत्र के सराय प्रयाग निवासी अंकित यादव को पकड़ लिया गया। अखंड प्रताप पहले भी गांजा तस्करी में जेल जा चुका है। पहले आरोपित डीसीएम से गांजा लाकर बेचते थे। इस बार पुलिस से बचने के लिए स्कार्पियो में उड़ीसा से गांजा लाए थे। आरोपित राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली और प्रदेश के कुछ जिलों में गांजा बेचते थे। चारों आरोपित शनिवार को अदालत में पेशी के बाद जेल भेज दिए गए। 

फर्रूखाबाद से अन्य समाचार व लेख

» दुल्हन ने शादी से किया इन्कार, कहा- काले लड़के के साथ नहीं रचाना ब्याह

» इंस्पेक्टर हत्याकांड में वांछित अनुपम दुबे के घर जीआरपी का छापा

» चोरी के बाद लुटेरों ने दुकानदार के लिए छोड़ा नोट

» नाखुश पिता ने बेटी की बेरहमी से कर दी हत्या

» वाणिज्य अधीक्षक समेत चार गिरफ्तार