यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

दुल्हन ने शादी से किया इन्कार, कहा- काले लड़के के साथ नहीं रचाना ब्याह


🗒 गुरुवार, जुलाई 15 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
दुल्हन ने शादी से किया इन्कार, कहा- काले लड़के के साथ नहीं रचाना ब्याह

फर्रुखाबाद, वैवाहिक स्थलों में प्राय: ऐसे किस्से सुनने में आते हैं जिन्हें सुर्खियां बनने में देर नहीं लगती। कोई-कोई किस्सा ऐसे भी हाेता है जिसमें फेरों से पहले ही रिश्ता टूट जाता है। इस बार ऐसा ही एक मामला सामने आया है यूपी के फर्रुखाबाद से। दरअसल, यहां एक अजीब वाकया हुआ। इसमें दुल्हे के रंग को देखकर दुल्हन ने शादी से इन्कार कर दिया। ऐसा तब हुआ जब सभी बराती भोजन कर चुके थे। इसी तरह शादी समारोह के दौरान काफी देर तक हाईवोल्टेज ड्रामा चलता रहा। बहरहाल, शादी में घटित यह घटना पूरे गांव में चर्चा का विषय बनी रही। बैंडबाजों के साथ दरवाजे पर चढ़ रही बरात में नाचते-झूमते बराती और उनकी आवभगत करने में जुटे लोगों को शायद यह नहीं मालूम था कि कुछ ही देर में दूल्हे का काला रंग रंग में भंग डाल देगा। कार्यक्रम में आई दुल्हन ने जयमाल डालकर घर के अंदर गई तो उसने दूल्हे को नापंसद करते हुए विवाह करने से इन्कार कर दिया। बेटी की जिद के आगे पिता ने भी उसकी हां में हां मिला दी। थक हार कर वर पक्ष के लोग थाने पहुंचे, लेकिन वहां चली पंचायत के बावजूद दुल्हन विवाह करने को राज़ी नहीं हुई। आखिर में बरात बिना दुल्हन के ही बैरंग लौट गई। क्षेत्र के गांव सरपालपुर निवासी युवती की बरात मंगलवार शाम जनपद कन्नौज के थाना गुरसहायगंज क्षेत्र के गांव रसूलपुर से आई थी। द्वारचार की रस्म के बाद जयमाल का कार्यक्रम हुआ। सज-धजकर आई दुल्हन ने वरमाला पहनाई। उसके बाद वह घर के अंदर गई और दूल्हा काला होने की बात कहते हुए शादी करने से इन्कार कर दिया। इस पर बराती सकते में आ गए। लोगों ने समझाने का प्रयास किया, लेकिन दुल्हन नहीं मानी। वह अपनी जिद पर अड़ी रही। बुधवार को दिन भर दुल्हन को समझाने पर अड़े रहे, लेकिन बात नहीं बनी। बात में दोनों पक्ष थाने पहुंचे। पुलिस ने युवती को बुलाकर उसे समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह शादी करने को तैयार नहीं हुई। इस पर दूल्हा बगैर दुल्हन के बरात लेकर वापस चला गया। कार्यवाहक थाना प्रभारी अच्छेलाल पाल ने बताया युवती को काफी समझाया गया, लेकिन वह शादी के लिए तैयार नहीं हुई थी। इसलिए दूल्हा पक्ष बरात लेकर बगैर दुल्हन के वापस चला गया। किसी ने लिखित शिकायत नहीं दी, इसलिए अभी कोई कार्रवाई नहीं की गई।