यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्रुखाबाद सेंट्रल जेल में कैदी की मौत के बाद बंदियों का हंगामा


🗒 सोमवार, अगस्त 23 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
फर्रुखाबाद सेंट्रल जेल में कैदी की मौत के बाद बंदियों का हंगामा

फर्रुखाबाद, । सेंट्रल जेल के कैदी की मौत से आक्रोशित बंदियों ने भूख हड़ताल कर नारेबाजी की। हालांकि जेल अधिकारियों ने समझा बुझाकर हड़ताल समाप्त कराने का दावा किया है।जनपद कानपुर देहात के शिवली थाना क्षेत्र के नयापुरवा भिवान निवासी 69 वर्षीय गुरुप्रसाद राजपूत को हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा हुई थी। 28 मार्च 2010 को उन्हें केंद्रीय कारागार फतेहगढ़ लाया गया था। शनिवार रात अचानक हालत बिगडऩे पर उन्हें लोहिया अस्पताल लाया गया। यहां पर गुरुप्रसाद को मृत घोषित कर दिया गया। रविवार सुबह कैदी की मृत्यु की सूचना से सेंट्रल जेल के बंदियों में रोष फैल गया। बैरक संख्या नौ के बंदियों ने भूख हड़ताल की घोषणा कर हंगामा शुरू कर दिया। बंदियों ने पाकशाला भी नहीं खुलने दी। वरिष्ठ अधीक्षक के बाहर होने के चलते अधीनस्थ स्टाफ ने सर्किल का ताला बंद कर दिया। सुबह करीब 11 बजे वरिष्ठ अधीक्षक ने आकर बंदियों से वार्ता की और समझाया-बुझाया। इधर रविवार दोपहर कैदी की पत्नी रामप्यारी, पुत्र विमल, पुत्री बबली, भाई रामवीर, भतीजे प्रेमकुमार आदि स्वजन के साथ लोहिया अस्पताल पहुंचे। डा.अनुराग वर्मा ने कैदी का पोस्टमार्टम किया। फेफड़े की बीमारी से मौत होना बताया गया। पोस्टमार्टम के बाद दिवंगत कैदी का शव स्वजन को सौंप दिया गया। वरिष्ठ अधीक्षक प्रमोद कुमार शुक्ला ने बताया कि वह शनिवार को जेल इंस्टीटयूट में क्लास लेने लखनऊ गए थे। कुछ बंदियों ने कैदी की मौत पर हंगामा करने का प्रयास किया था। वस्तुस्थिति बताने और समझाने बुझाने के बाद वह मान गए। सभी को भोजन वितरित किया गया है।