यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्रूखाबाद में करंट लगन से युवक की मौत


🗒 सोमवार, सितंबर 13 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
फर्रूखाबाद में करंट लगन से युवक की मौत

फर्रूखाबाद ,। पेड़ पर चढ़कर बकरियों के चारे के लिए पत्ते तोड़ते वक्त युवक का हाथ पास से निकली बिजली की लाइन के तार से छू गया। इससे करंट का झटका लगा तो युवक पेड़ से नीचे आ गिरा। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। स्वजन ने युवक का शव सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। एक बार हटवाने के बाद जब भीड़ ने दोबारा जाम लगाने का प्रयास किया तो पुलिस ने लाठियां पटककर लोगों को खदेड़ा। विरोध कर रहे स्वजन को पुलिस ने पीट कर जीप में डाल लिया। उसके बाद किसी तरह से लोग शांत हुए।मऊदरवाजा थाना क्षेत्र के गांव खेड़ा न्यामतपुर निवासी आकाश कठेरिया सोमवार दोपहर करीब 1.30 बजे बकरियां चराने कायमगंज बाईपास स्थित नखासा के पास आए थे। वह सड़क किनारे खड़े पाकड़ के पेड़ पर चढ़कर बकरियों के लिए पत्ते तोड़ रहे थे तभी पेड़ के पास से निकली बिजली लाइन में उनका हाथ छू गया। करंट की चपेट में आकर वह झटके के साथ नीचे आ गिरे। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। चीख-पुकार के बीच स्वजन पहुंचे तो कुछ लोगों ने आकाश का शव उठाकर सड़क पर रख दिया और जाम लगाने का प्रयास किया। पुलिस ने स्वजन को समझा-बुझाकर शव हटवाकर जाम खुलवा दिया। इस दौरान घटनास्थल पर भीड़ बढ़ गई तो स्वजन आकाश का शव फिर से सड़क पर उठा लाए और कायमगंज फर्रुखाबाद बाईपास मार्ग पर जाम लगाने का प्रयास करने लगे। पुलिस ने जब विरोध किया तो मृतक आकाश के पिता कल्लू कठेरिया, भाई दीपू आदि से थाना प्रभारी अजय नरायन ङ्क्षसह की नोकझोंक हो गई। उसके बावजूद जब स्वजन शव हटाने को तैयार नहीं हुए तो पुलिस ने लाठियां पटक कर शव हटवाने का प्रयास किया। स्वजन ने जब पुलिस का विरोध किया तो पुलिस ने मारपीट शुरू कर दी। इससे वहां अफरा-तफरी मच गई। मौका पाते ही पुलिस ने शव हटाकर सड़क किनारे रखवा दिया और भीड़ को खदेड़ दिया। सबसे ज्यादा विरोध कर भाई दीपू कठेरिया को उठाकर पुलिस ने अपनी जीप में डाल लिया। मामला भांप कर स्वजनों तेवर कमजोर पड़े तो वह अपनी गलती स्वीकारते हुए दीपू को छोडऩे की गुहार करने लगे। उसके बाद पुलिस ने दीपू को छोड़ दिया। पिता कल्लू कठेरिया का आरोप है कि बिजली विभाग की लापरवाही के कारण हादसा हो गया है। तार पेड़ के अंदर से निकले थे। थाना प्रभारी अजय नरायन ङ्क्षसह ने कहा कि युवक स्वयं ही पेड़ पर चढ़ा था और हादसे का शिकार हो गया। कार्रवाई करने के लिए तैयार हैं, लेकिन कुछ लोग अकारण जाम लगाकर यातायात अवरुद्ध कर रहे थे। इसलिए थोड़ी सख्ती की गई, लेकिन मारपीट नहीं की गई।