यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

घर में वृद्धा की पीटकर हत्या


🗒 शनिवार, जून 04 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
घर में वृद्धा की पीटकर हत्या

फतेहपुर, । बिंदकी कोतवाली के हसनापुर गांव में 60 वर्षीय वृद्धा रामश्री की डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। स्वजन शव को लेकर अंतिम संस्कार करने जा रहे थे, लेकिन पड़ोसियों की सूचना पर पुलिस ने शव का अंतिम संस्कार रुकवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। वहीं, फोरेंसिक टीम ने साक्ष्य संकलित आसपास की जगह सील कर दी है। पुलिस ने करीबियों पर हत्या का संदेह जताकर दिवंगत की बड़ी बहू व छोटे पुत्र से पूछताछ कर रही है। वहीं, देर शाम तक कोई तहरीर नहीं दी गई है।हसनापुर निवासी दिवंगत वृद्धा के दो पुत्रों में बड़े पुत्र राजेंद्र सिंह की शादी हो चुकी है। छोटा पुत्र दिव्यांग संतराम सिंह अविवाहित है। बड़ा पुत्र मुंबई में रहता है। छोटा पुत्र व बहू (ज्येष्ठ पुत्र की पत्नी) कामिनी एक साथ एक ही घर में वृद्धा से अलग कोठरी में रहते हैं। पड़ोसियों का कहना है कि शुक्रवार की दोपहर करीब कोठरी के अंदर वृद्धा के सिर कर डंडे या किसी अन्य वजन वस्तु से कई वार कर हत्या कर दी गई। शनिवार को वृद्धा के शव को ट्रैक्टर में लेकर अंतिम संस्कार के लिए वह गांव के बाहर जा रहा था। ग्रामीणों ने वृद्धा के सिर पर चोट के निशान व कपड़ों पर खून देखकर पुलिस को सूचना दे दी। कोतवाली प्रभारी रवींद्र श्रीवास्तव ने बताया कि कोठरी में खून गिरने की जगह की मिट्टी को खुरच कर हटाया गया है। वृद्धा के सिर पर चोट के दो निशान दिख रहे थे। सिर पर डंडे या किसी भारी वस्तु से प्रहार किया गया है। घटना को छिपाने के लिए अंतिम संस्कार करने की कोशिश की जा रही थी। घर की जिस कोठरी में वृद्धा रहती थी, उसी में अपने लिए अलग खाना भी बनाती थी। कोठरी में सब्जी कटी रखी मिली है। इससे प्रतीत होता है कि वृद्धा की हत्या दोपहर में या फिर शाम को की गई। शायद वह उस समय खाना बनाने जा रही है।  वृद्धा का बड़ा पुत्र राजेंद्र सिंह आठ दिन पहले मुंबई से घर आया था। इस दौरान उसका पत्नी से कुछ विवाद भी हुआ था। इससे वह मुंबई लौट गया था। पुलिस ने वृद्धा के पुत्र को भी घटना की जानकारी जरिये दूरभाष दी है। उधर मायके पक्ष से भी कुछ लोग आए हैं।