यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

नौकरी दिलाने के नाम पर पांच लाख हड़पे


🗒 शुक्रवार, अक्टूबर 01 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
नौकरी दिलाने के नाम पर पांच लाख हड़पे

फतेहपुर, । आर्मी कैंटीन में लिपिक की नौकरी दिलाने के नाम पर खागा तहसील कर्मी के बेटे से पांच लाख रुपये हड़प लिए। पीडि़त आरोपित मामा-भांजे से रुपये मांगता रहा, लेकिन रुपये वापस नहीं हुए। जिस पर पीडि़त की तहरीर पर आरोपित मामा-भांजे समेत तीन लोगों के खिलाफ अमानत में खयानत के तहत धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। खखरेडू थाने के सोथरापुर निवासी लेखपाल हरपाल सिंह इस समय खागा कस्बा के विजयनगर मुहल्ले में सपरिवार  रहते हैं। इनका बेटा यशवीर सिंह बीटीसी कर चुका है। नौकरी के लिए इन्होंने पड़ोस में रहने वाले टावर कर्मी अजय कुमार मिश्र निवासी पूरेचरन थाना रानीगंज जिला प्रतापगढ़ से कहा। तहसील कर्मी हरपाल सिंह ने बताया कि पड़ोसी अजय ने अपने भांजे अतुल कुमार शुक्ला निवासी कोठियाही थाना कंधई जिला प्रतापगढ़ से मिलवाया। जिस पर अतुल ने आर्मी कैंटीन, प्रयागराज में नौकरी दिलाए जाने का आश्वासन देकर वर्ष 2016 में 50 हजार रुपये नकद ले लिए। इसके बाद वर्ष 2017 में बेटे यशवीर सिंह ् से आरटीजीएस के द्वारा खाते में चार लाख 50 हजार रुपये और ले लिए। नौकरी न लगने पर उसने अतुल के पास फोन किया तो उसने नौकरी में बुलावे का फर्जी काल लेटर भी थमा दिया। इसके बाद फोन रिसीव करना बंद कर दिया।खागा कोतवाली प्रभारी संतोष शर्मा ने बताया कि तहसील कर्मी के बेटे यशवीर सिंह की तहरीर पर आरोपित अजय, इसके भांजे अतुल व अतुल के पिता अशोक कुमार शुक्ला पर धोखाधड़ी के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और इसकी विवेचना उपनिरीक्षक बृजेश कुमार यादव को दी गई है।